Health Tips: डेंगू फीवर होने का खतरा हर मौसम में रहता है। मादा मच्छर एडीज एजिप्टी के काटने की वजह से ही डेंगू फैलता है। डेंगू होने पर ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या काफी कम होने लगती है। डेंगू होने पर मांसपेशियों में दर्द, स्किन पर रैशेज, तेज बुखार, जोड़ो और सिर में दर्द आदि लक्षण दिखने लगते हैं। डेंगू की समस्या होने पर दवाइयों के साथ-साथ डाइट का भी खासा ध्यान रखना चाहिए। जिससे सही डाइट फॉलो करके डेंगू से जल्द से जल्द सही रिकवर किया जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि डेंगू में चावल खाना चाहिए या नहीं। आइए जानते हैं कि डेंगू में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं।

Home Remedies: बारिश के दिनों में बढ़ जाता है डेंगू और मलेरिया का आतंक,  न्यूट्रिशनिस्ट ने बताया राहत पाने के 5 आसान तरीके - nutritionist rujuta  diwekar shared 5 easy ...

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार डेंगू फीवर होने आपको अपने आहार में हल्का भोजन ही शामिल करना चाहिए। डेंगू होने पर आप दोपहर के समय अपने भोजन में चावल का सेवन कर सकते हैं। चावल में मौजूद पोषक तत्व डेंगू में होने वाली कमजोरी से छुटकारा दिलाते हैं। लेकिन रात के समय आपको चावल का सेवन नहीं करना चाहिए।

डेंगू में क्या खाना चाहिए, क्या नहीं और परहेज - Dengue diet chart in Hindi

डेंगू फीवर होने पर अंडे का सेवन भी किया जा सकता है। लेकिन बेहतर होगा कि आप इसके पीले हिस्से को हटाकर ही खाएं। क्योंकि इसमें हाई प्रोटीन होता है जिससे पाचन में परेशानी हो सकती है। अंडे के सफेद भाग का सेवन भी सीमित मात्रा में करना चाहिए।

Dengue Day 2021: डेंगू से जल्दी रिकवरी पानी है तो एक्सपर्ट से जानें कैसी हो  आपकी डाइट? - follow-this-diet-plan-for-quick-recovery-from-dengue - Nari  Punjab Kesari

डेंगू के समय पपीते की पत्तियों का सेवन करने की सलाह भी दी जाती है। साथ ही इस दौरान स्नैक्स के रूप में पपीते का सेवन भी कर सकते हैं। पपीते में काइमोपपैन और पपैन जैसे एंन्जाइम होते हैं। जो कि ब्लड प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने में मदद करते हैं। लेकिन शाम के वक्त फलों का सेवन नहीं करना चाहिए।

dengue fever ke gharelu upay, बरसाती मौसम में डंक मारता है डेंगू का मच्‍छर,  जानिए बच्‍चों को जल्‍दी ठीक करने के घरेलू उपाय - home remedies for dengue  fever in children -

डेंगू में हल्के फुल्के आहार लेना ही जरूरी होता है। जिससे शरीर में एनर्जी बनी रहती है। इसमें आप खिचड़ी या अन्य हल्के-फुल्के आहार के साथ दही का सेवन कर सकते हैं। दही में मौजूद कैल्शियम आपके शरीर की कमजोरी को दूर करता है। लेकिन रात के समय दही नहीं खाना चाहिए। इससे आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

Dengue diet plan to help you recover from the infection quickly | The Times  of India

डेंगू फीवर होने पर बकरी का दूध पीने की सलाह दी जाती है। बकरी के दूध में फोलेट बाइंड अवयव की मात्रा अधिक होती है। जो कि फोलिक एसिड नामक आवश्यक विटामिन होता है। यह डेंगू रोगियों के लिए काफी जरूरी होता है। बकरी के दूध में प्रोटीन ज्यादा जटिल नहीं होते हैं। इसे पचाने में काफी आसानी होती है। अगर बकरी का दूध उपलब्ध नहीं है तो टोंड मिल्क या काऊ मिल्क मलाई उतरा हुआ इस्तेमाल कर सकते हैं। इन सबके अलावा आप अपनी डाइट में अधिक से अधिक तरल पदार्थों को शामिल करना चाहिए। डॉक्टर के निर्देशों को फॉलो करने के साथ-साथ आपको खूब सारा पानी पीते रहना चाहिए।

Hand in hand: Healthy foods often reduce environmental impacts | Yale  Environment Review

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close