तथ्य यह है कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता का बहुत बड़ा प्रतिशत हिस्सा पेट के स्वास्थ्य से जुड़ा होता है। यदि आप पेट के अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रयत्न करेंगे तो पूरे स्वास्थ्य पर इसका प्रभाव पड़ेगा। यह संकेत जरूरी नहीं कि हमेशा किसी गंभीर बीमारी से ही जुड़े हों, लेकिन नजरअंदाज करने पर यह तकलीफ को बढ़ा सकते हैं। इसलिए उन बातों पर गौर करें जो पेट आपसे कहना चाह रहा है।

इसलिए कुछ बातों का ध्यान रखें- नींद की कमी का खामियाजा रात की भरपूर नींद द्वारा शरीर और दिमाग पर पड़ने वाले सकारात्मक असर को कई शोध साबित कर चुके हैं। तथ्य यह है कि नींद की कमी या अच्छी तरह से नींद के पूरे न होने और पेट में मौजूद दोस्त बैक्टीरिया के स्तर के घटने के बीच संबंध साबित हो चुके हैं। यानी नींद से जुड़ी समस्या पेट में मौजूद उन अच्छे बैक्टीरिया के रक्षा कवच को क्षतिग्रस्त कर सकती है, जो संक्रमण से पेट और शरीर का बचाव करते हैं।

नींद नहीं ले पा रहे हैं तो उसके लिए जांच करवाएं

यही कारण है कि अनिद्रा या नींद में असंतुलन के कारण पेट में दर्द, अपच, कब्ज जैसी समस्याएं उपज सकती हैं। इसलिए नींद को भरपूर रखेंऔर अगर किसी बीमारी या तकलीफ की वजह से आप नींद नहीं ले पा रहे हैं तो उसके लिए जांच करवाएं तथा इलाज लें। भरपूर नींद कॉर्टिसोल (शरीर का स्ट्रेस हार्मोन) के स्तर को संतुलित कर पेट को अपने खुद के रिपेयरिंग के काम के लिए समय प्रदान करती है।

यह भी पढ़ें : Health Care : बेहतर पाचन का मतलब है बेहतर सेहत, जानिये इससे जुड़ी बातें

यह भी पढ़ें : Health Care : पेट के स्वास्थ्य से जुड़ी इन बातों को ना करें नजरअंदाज

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close