Health Tips: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मौसम में लगातार बदलाव हो रहा है। बाहर का तापमान कम है। हमारे शरीर का तापमान भी कम न हो जाए, इसके लिए सजग रहना जरूरी है। यह मौसम सभी तरह के वायरस के लिए अनुकूल माना जाता है। यही वजह है कि संक्रमण का खतरा इस मौसम में सबसे ज्यादा रहता है। बुजुर्ग और ऐसे लोग जिन्हें हृदय रोग, मधुमेह या अन्य कोई पुरानी बीमारी है, उन्हें विशेष सतर्कता बरतनी होती है। बुजुर्गों को चाहिए कि वे शरीर को सीधे ठंड के संपर्क में लाने से बचें। शरीर को पूरी तरह से ढंक कर रखें। कोशिश करें कि रोजाना कुछ देर धूप में जरूर बैठें।

पर्याप्त पानी पीते रहें

यह बात चेस्ट फिजिशियन डा.संजय लोंढे ने नईदुनिया से चर्चा में कही। उन्होंने कहा कि देखने में आता है कि ठंड के दिनों में हम बहुत कम पानी पीते हैं। इस वजह से शरीर में पानी की कमी हो जाती है। इससे बचने के लिए हम पानी को गर्म करके पी सकते हैं। मौसम में ठंड की वजह से लोग नियमित दवाई लेने में भी लापरवाही करते हैं।

बाजार का खाना खाने से बचें

इन दिनों वातावरण में धूल बहुत होती है। बाजार का खुला खाना दूषित हो सकता है। इसलिए इस मौसम में बाजार का खाना खाना से बचना चाहिए। घर पर तैयार गर्म पेय जरूर लेना चाहिए। ठंड के इस मौसम में नाक और कान को गर्म कपड़ों से ढककर रखें। जिन लोगों को बार-बार सर्दी जुकाम होने की शिकायत है, उन्हें प्राणायाम और अन्य श्वसन क्रिया से जुड़े व्ययाम करना चाहिए। ऐसे लोग अत्यधिक ठंड में सुबह के वक्त घर से बाहर न निकलें।

सर्दी-जुकाम को हल्के में न लें

कोशिश करें कि सुबह सात बजे बाद ही टहलने के लिए निकलें। सर्दी-जुकाम को हल्के में न लें। यह नुकसानदायक हो सकता है। यह बात सही है कि इस मौसम को खाने-पीने का मौसम माना जाता है, लेकिन बहुत ज्यादा तले-गले और मसाले वाला खाना खाने से परहेज करना चाहिए।

Posted By: Hemraj Yadav

  • Font Size
  • Close