Pregnancy Test: अगर किसी महिला के पीरियड्स मिस हो जाते है। तब उनके दिमाग में गर्भवती होने का ख्याल आता है। ऐसे में वह कन्फर्म करने के लिए प्रेगनेंसी टेस्ट किट का सहारा लेती हैं। लेकिन इस टेस्ट को करते समय कई बातों का ध्यान रखना होता है। अगर गलत समय और अच्छे से नहीं किया जाएं, तो रिजल्ट सहीं नहीं मिलता है। इस लिए प्रेगनेंसी टेस्ट करते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। सीनियर आब्सट्रिशियन एंड गायनोकोलॉजिस्ट डॉक्टर मनीषा रंजन के अनुसार प्रेगनेंसी टेस्ट पेशाब में ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोफिन हार्मोन को दिखाता है। यह हार्मान तब आता है जब अंडा यूटरिन लाइनिंग में इंप्लांट हो गया हो। यह टेस्ट किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीदा जा सकता है। इस टेस्ट को घर पर कर सकते हैं।

प्रेगनेंसी टेस्ट करने का सही समय

पीरियड्स मिस होने पर प्रेगनेंसी टेस्ट किया जा सकता है। कई बार पीरियड्स की तारीख समय से पहले आ जाती है। यह टेस्ट बॉडी में HCG हार्मोन के बनने पर पॉजिटिव दिखाता है। इस लिए हार्मोन तारीख कुछ वक्त पहले भी बन सकते है। ऐसा करने से गलत रिजल्ट मिल सकते हैं। इस लिए पीरियड्स के मिस होने बाद टेस्ट करें।

सही नतीजे कब दिखते हैं

मिस हुए पीरिड के पहले दिन प्रेगनेंसी टेस्ट करने पर 99 प्रतिशत सही रिजल्ट मिलता है। वह सुबह के समय टेस्ट करना चाहिए। वह टेस्ट करते समय किट की एक्सपायर डेथ जरूर देख लें। पुरानी किट होने पर रिजल्ट गलत आएगा।

ये लक्षण दिखने पर करें प्रेगनेंसी टेस्ट

1. हल्की हल्की ब्लीडिंग दिखने पर प्रेगनेंसी टेस्ट कर लें।

2. पेट में खिंचाव महसूस या दर्द होने पर।

3. ब्रेस्ट में हल्का दर्द महसूस होना या असहज लगना।

4. कोई काम करें बिना भी थकान लगना।

5. मुंह में अजीब से स्वाद रहना।

यह सब लक्षण दिखने पर तुरंत प्रेगनेंसी टेस्ट करना चाहिए। बाजार में टेस्ट की कई किट उपलब्ध है। डॉक्टर के पास जाकर ब्लड सैंपल देकर भी जांच करवा सकते हैं।

Posted By: Arvind Dubey