मुंबई। मुंबई के राज्‍य परिवहन विभाग ने पहली बार टैक्‍सी चलाने के लिए महिलाओं के लिए अपने दरवाजे खोले हैं। विभाग की इस योजना को जबरदस्‍त प्रतिक्रिया मिल रही है और अभी तक 221 महिलाओं ने इसके लिए आवेदन किया है। वहीं, पहली बार तीन ट्रांसजेंडर्स ने भी विभाग में आवेदन किया है। इसमें से दो ट्रांसजेंडर दक्षिणी मुंबई के हैं और एक उपनगर का रहने वाला है।

एक आरटीओ अधिकारी ने बताया कि यहां कभी किसी ट्रांसजेंडर को टैक्‍सी चलाते नहीं पाया गया है और यह संभवत: पहली बार होगा कि ऐसा मौका उन्‍हें दिया जाएगा। मगर, यह फैसला अक्‍टूबर में होने वाली लॉटरी पर निर्भर करेगा कि उसमें कौन से प्रतिभागी जीतते हैं।

परिवहन विभाग के अधिकारियों के अनुसार, महिलाओं के लिए एक असंगठित क्षेत्र में काम करना आसान नहीं होगा। अधिकारी ने बताया कि यह काली और पीली टैक्‍िसयां हैं और यह क्षेत्र असंगठित है, यहां महिला चालकों को सभी तरह के यात्रियों का सामना करना होगा। अधिकारी ने बताया कि कठिन समय की आशंका महिलाओं को ड्राइवर बनने से नहीं रोक सकती। हमें वासी, थाणे, कल्‍याण और नवी मुंबई से महिला उम्‍मीदवारों के आवेदन मिले हैं।

लॉटरी सिस्‍टम के जरिये परमिट 10 अक्‍टूबर को आवंटित किए जाएंगे। मुंबई मेट्रोपॉलिटन क्षेत्र के लिए सात हजार 800 परमिटों के लिए अभी तक 27 हजार 200 उम्‍मीदवारों ने आवेदन किया है। प्रोसेसिंग फीस सोमवार दोपहर तक स्‍वीकार की जाएंगी और इसके बाद आॅनलाइन प्रॉसेस बंद हो जाएगी।

Posted By: