मुंबई। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से भारतीय सेना ने सीमा पर पूरा नियंत्रण कर रखा है। पाकिस्तान जिस तरह से रोज मुंह की खा रहा है, इससे सेना का मनोबल बढ़ा है। इस बीच, भारतीय वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने शुक्रवार को मुंबई में बड़ी बात ही। उनके मुताबिक, पाकिस्तान भारत की सामरिक क्षमता को जानता है। इसके बावजूद वह बार-बार गलती कर बैठता है। उसकी सबसे बड़ी गलती है कि बार-बार मुंह की खाने के बावजूद वह भारतीय नेतृत्व को हल्के में लेता रहा है। पुलवामा हमले के बाद भी उसने ऐसा ही सोचा था। पाकिस्तान को लगा ही नहीं था कि भारतीय वायुसेना उसके भीतर घुसकर बालाकोट के आतंकी शिविरों को तबाह कर देगी। बता दें, धनोआ इसी महीने रिटायर होने वाले हैं।

...यह भी बोले धनोआ

  • पाकिस्तान ने हमेशा हमारे नेतृत्व को हल्के में लिया। हमेशा। 1965 के युद्ध में उसने तत्कालीन प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री को हल्के में लिया। उन्हें यह अंदाजा भी नहीं था कि शास्त्री सेना को लाहौर तक मोर्चा लेने की इजाजत दे देंगे।
  • उन्हें लगा था कि हम केवल कश्मीर के भीतर ही लड़ते रह जाएंगे... लेकिन कारगिल युद्ध के दौरान झटका लगा। उन्हें कभी यह अंदाजा नहीं था कि हम पूरी सेना, बोफोर्स तोप व वायुसेना का इस्तेमाल करते हुए उनकी सेना व घुसपैठियों को खदेड़ देंगे।
  • पाकिस्तान का हिसाब हमेशा गलत रहा। यहां तक कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भी उन्होंने गलत हिसाब लगाया। उन्होंने कभी सोचा नहीं था कि राजनीतिक नेतृत्व हमें बालाकोट एयर स्ट्राइक की इजाजत देगा।
  • बालाकोट एयर स्ट्राइक के जरिये हमने पाकिस्तान को जता दिया है कि आतंकी हमले का जवाब हम भीतर घुसकर देंगे।

Posted By: Arvind Dubey