मुंबई। भाजपा अध्यक्ष व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को मुंबई में कहा कि मैं प्रधान मंत्री मोदी की बहादुरी और धैर्य की सराहना करता हूं। जैसे ही हमने 305 सीटों के साथ दूसरी बार सरकार बनाई, उन्होंने संसद के पहले सत्र में अनुच्छेद 370 और 35A को हटा दिया।

अमित शाह ने कहा कि, राहुल गांधी कहते हैं कि अनुच्छेद 370 एक राजनीतिक मुद्दा है। राहुल बाबा अब आप राजनीति में आ गए हैं, लेकिन भाजपा की 3 पीढ़ियों ने कश्मीर के लिए, धारा 370 को निरस्त करने के लिए अपनी जान दे दी है। यह हमारे लिए राजनीतिक मामला नहीं है, भारत माता को अविभाजित रखना हमारे लक्ष्य का हिस्सा है।

हम अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाने के लिए समर्पित कार्यकर्ता रहे हैं। जब से अनुच्छेद 370 और 35ए अस्तित्व में आया, तब से जनसंघ और भाजपा ने इसका विरोध किया है। अनुच्छेद 370 देश के साथ कश्मीर के जुड़ाव में बाधा रहा है। साथ ही, देश की एकता में भी बाधा रहा है।

अब कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद वहां से परिवारवादी पार्टियों का सफाया होने वाला है। सरदार पटेल ने देश को एक करने का काम किया है।

अमित शाह ने कहा कि पिछले दो-तीन दिन से कांग्रेस और एनसीपी वाले कहते हैं कि ये नहीं हुआ तो जीत जाएंगे, वो नहीं हुआ तो जीत जाएंगे। मैं कहना चाहता हूं कि कुछ भी हो जाए महाराष्ट्र में एनडीए की सरकार तीन चौथाई बहुमत के साथ बनाना तय है।