मुंबई। महाराष्ट्र में मुंबई महानगर पालिका समेत नौ अन्य म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के लिए मतगणना जारी है। अब तक मिले नतीजों के बाद साबित हो गया है कि इस चुनावों में और खासतौर पर बीएमसी में तो शिवसेना भाजपा पर भारी पड़ी है।

इसका महाराष्ट्र ही नहीं, देश की सियासत पर व्यापक असर पड़ सकता है। शिवसेना मुंबई में अभी बहुमत के आंकड़े से दूर है, लेकिन इतनी खटास बढ़ने के बाद भी वह भाजपा से हाथ मिलाएगी, ऐसा लग नहीं रहा। सवाल यह भी है कि शिवसेना बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई तो बीएमसी में क्या समीकरण बैठेंगे?

जब साबित हो गया है कि महाराष्ट्र की सियासत में शिवसेना ही बिग ब्रदर है, सवाल यह भी है कि क्या इन चुनावों का सीधा-सीधा असर देवेंद्र फणडवीस सरकार पर भी पड़ेगा?

यह भी पढ़ें: BMC Election result live: पहली जीत भाजपा के खाते में

1997 से बीएमसी पर शिवसेना का कब्जा है और भाजपा अब तक जूनियर पार्टनर की भूमिका निभाती रही है। यह पहला मौका है जब भाजपा ने शिवसेना के बराबर दौड़ लगाने का फैसला किया है।

कांग्रेस की जगह लेगी शिवसेना?

जानकारों के मुताबिक, महाराष्ट्र में कांग्रेस लगातार कमजोर पड़ रही है। राकांपा की अपनी सीमाएं हैं। इस तरह विपक्ष में एक निर्वात बन रहा है। शिवसेना के तेवर देख कर नहीं लगता कि वह भाजपा के साथ सत्ता का सुख भोगेगी।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020