महाराष्ट्र के ठाणे में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक दंपती ने अपनी 4 साल की मासूम की हत्या करने के बाद खुद भी आत्महत्या कर ली। दंपती द्वारा छोड़े गए सुसाइड नोट में 13 रिश्तेदारों पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं। इसमें भाई और कजिन भी शामिल हैं। यह सनसनीखेज घटना ठाणे जिले के वाकलान गांव की है जो मुंब्रा के नजदीक है। घटना रविवार रात की बताई जा रही है। सुसाइड नोट में दंपती ने लिखा है कि अपने भाईयों सहित अन्य रिश्तेदारों के दबाव में वे ऐसा आत्मघाती कदम उठाने जा रहे हैं।

वाकलान में 39 साल के शिवराम पाटिल अपनी पत्नी दीपिका (33 साल) और 4 साल की बेटी अनुष्का के साथ रहते थे। उनके दो मंजिला घर के पहले फ्लोर पर पति पत्नी ने फांसी लगा ली। पुलिस को आशंका है कि फांसी लगाने के पहले पति पत्नी ने खुद और बच्ची को कीटनाशक के इंजेक्शन भी लगाए। पहले उन्होंने अपनी बेटी की हत्या की फिर खुद फांसी के फंदे पर झूल गए।

सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने 13 लोगों के खिलाफ धारा 306, 201 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है। इसके अलावा पुलिस अब तक 2 आरोपियों को हिरासत में भी ले चुकी है, अन्य की तलाश जारी है।

एक पेज का था सुसाइड नोट

पुलिस के मुताबिक पाटिल के घर से एक पेज का सुसाइड नोट मिला है। जिसे संदिग्धों द्वारा फाड़कर घर के बाहर फेंक दिया गया था। दीपिका ने सुसाइड नोट की सॉफ्ट कॉपी WhatsApp के जरिये अपने भाई श्रीनाथ केशव केनी को भी भेजी थी। बहन द्वारा भेजा गया यह मैसेज जब श्रीनाथ को मिला तो उन्होंने तत्काल अपने एक अन्य रिश्तेदार केशव पाटिल को इस बात की जानकारी दी और पुलिस को भी इस घटना की सूचना दी।

जब रिश्तेदार शिवराम पाटिल के घर पहुंचे तो वह अंदर से बंद था। इसके बाद वह घर की एक खिड़की से अंदर दाखिल हुए जहां तीनों फांसी के फंदे पर लटके मिले।

यह था पूरा विवाद

पुलिस के मुताबिक शिवराम दंपती और उनके रिश्तेदारों के बीच पुश्तैनी मकान और जमीन को लेकर लंबे वक्त से विवाद चल रहा था। इस मामले में रविवार दोपहर को भी दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया था। सुसाइड नोट में पाटिल ने कहा कि वह अपने हिस्से की संपत्ति अनाथ बच्चों की चैरिटी के लिए देना चाहता है। इसके साथ ही उसने 50 हजार रुपए और सोने के गहने अपनी बहन जानाबाई सालुंके को देने का जिक्र किया।

बता दें कि पाटिल एक छोटी राइज मिल चलाता था और खेती करता था। उसके रिश्तेदार उसे लंबे वक्त से परेशान कर रहे थे। पाटिल अपने हिस्से के पैसे से नया मकान बनाना चाहता था लेकिन उसके रिलेटिव इस बात का भी विरोध कर रहे थे।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan