ठाणे। 300 रुपए रोज कमाने वाले एक दिहाड़ी मजदूर को आयकर विभाग (Income Tax Department) ने कर वसूली का नोटिस थमाया है। टैक्‍स की राशि पूरे 1.5 करोड़ रुपए है। यह नोटिस मिलने के बाद मजूदर व उसका पूरा परिवार हैरान है। इस व्‍यक्ति का नाम बाबू साहब अहीर है। वह ठाणे की झुग्‍गी बस्‍ती अंबीवली में रहता है और 300 रुपए दिहाड़ी पर काम करता है। उसे नोटिस भेजे जाने के पीछे वजह यह बताई जा रही है कि नवंबर 2016 में हुई नोटबंदी के बाद उसके बैंक खाते में 58 लाख रुपए जमा हुए थे। हालांकि बाबू साहब का कहना है कि उसे इस बैंक खाते और इसमें जमा की गई रकम के बारे में कोई जानकारी नहीं है। आयकर विभाग का नोटिस मिलने के बाद हैरत में आए बाबू साहब ने पुलिस को मामला बताया है और शिकायत दर्ज कराई है। उसका कहना है कि हो सकता है किसी ने जाली दस्‍तावेजों के माध्‍यम से उसका बैंक खाता खुलवा लिया हो और उसमें यह पैसे जमा कराए हों।

PAN कार्ड से खुला था यह खाता

बाबू साहब ठाणे में अपने ससुर की झोपड़ी में उनके साथ ही निवास करता है। PAN कार्ड से खुला था यह खाता

नोटिस मिलने के बाद बाबू साहब ने आयकर विभाग और बैंक से संपर्क साधा। बातचीत में उसे यह पता चला कि उसके PAN कार्ड का दुरुपयोग करते हुए एक बैंक खाता उसके नाम से खोला गया है। हालांकि इसमें उसका फोटो और सिग्‍नेचर त्रुटिपूर्ण थे। इससे यह तो स्‍पष्‍ट हो गया कि उसके पैन कार्ड से बैंक अकाउंट खोला गया।

उसे गत 7 जनवरी को आयकर विभाग का 1.5 करोड़ रुपए के टैक्‍स का नोटिस आया। यह पहला नोटिस था। इसके बाद अब दूसरा नोटिस आया है। उसे खुद समझ में नहीं आ रहा है कि यह सब कैसे हो गया। उसकी शिकायत के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket