मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के एक करीबी सहयोगी हुमायूं मर्चेंट को गिरफ्तार कर लिया है। इकबाल मिर्ची उर्फ इकबाल मेमन की 2013 में मौत हो चुकी है, जो अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम का करीबी था।

अधिकारियों ने बताया कि हुमायूं को यहां सोमवार रात गिरफ्तार किया गया। मंगलवार को यहां विशेष पीएमएलए जज पी. राजवैद्य की अदालत में पेश किए जाने पर उसे 24 अक्टूबर तक के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया गया।

ईडी का आरोप है कि मर्चेंट ने सर मोहम्मद यूसुफ ट्रस्ट की वर्ली में तीन अचल संपत्ति- सी व्यू, मरियम लॉज तथा राबिया मैनिसन को हड़पने के लिए उनमें डम्मी किराएदार रखे। मर्चेंट का संबंध पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल द्वारा प्रवर्तित सनब्लिंक रियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड फर्म से रहा है। पटेल भी मिर्ची की पत्नी के साथ संपत्तियों के सौदे मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच के घेरे में हैं।

मर्चेंट पर इकबाल मिर्ची तथा एक स्थानीय रियल एस्टेट फर्म जॉय होम क्रिएशन प्रा. लि. के प्रवर्तक के बीच लंदन में बैठक की 'व्यवस्था" कराने का आरोप है। उक्त बैठक स्थानीय कंपनी को उक्त संपत्ति के विकास तथा किराएदारी हक ट्रांसफर करने को लेकर थी।

बताया जाता है कि इस डील से मर्चेंट को 170 करोड़ रुपए से अधिक की राशि मिली, जो अवैध और काली कमाई थी। केंद्रीय एजेंसी उक्त डील में मदद के आरोप में इस महीने की शुरुआत में दो अन्य लोगों- हारून अलीम यूसुफ और रंजीत सिंह बिंदर को भी गिरफ्तार कर चुकी है। प्रफुल्ल पटेल से भी ईडी ने पिछले सप्ताह पूछताछ की है।

Posted By: Navodit Saktawat