मुंबई। कॉरपोरेट मामलों का मंत्रालय शुक्रवार को Axis Bank और Standard Chartered Bank के खिलाफ अदालत की अवमानना याचिका दाखिल करेगा। आइएलएंडएफएस फाइनेंशियल सर्विसेज के पूर्व MD रमेश चंदर बावा और उनकी पत्नी द्वारा अपनी संपत्ति के एक हिस्से को खत्म करने में दोनों बैंकों की कथित भूमिका के आरोप में यह याचिका दाखिल की जाएगी। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने बावा और उनकी पत्नी की संपत्ति पर रोक लगा रखी थी।

मंत्रालय बावा, उनकी पत्नी और बैंकों के विरुद्ध दो आवेदन और एक याचिका दाखिल करेगा। बावा और उनकी पत्नी द्वारा खत्म की गई उनकी संपत्तियों का ब्यौरा उपलब्ध नहीं हो सका। वीपी सिंह और रविकुमार दुरईसामी की एक बेंच ने तीन दिसंबर 2018 को आइएलएंडएफएस समूह के पूर्व निदेशकों पर चल या अचल या संयुक्त संपत्ति को गिरवी रखने या बेचने या थर्ड पार्टी इंटरेस्ट बनाने या किसी भी तरह से खुद से अलग करने से रोक लगा दी थी। इस मामले की अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।

Posted By: Neeraj Vyas