मुंबई। दक्षिण-पश्चिमी मानसून मुंबई पहुंच गया है। मायानगरी में बुधवार से भारी बारिश का दौर जारी है। पानी भरने से कई रास्ते जाम हो चुके हैं।

मुंबई की लाइफ-लाइन कही जाने वाली रेल सेवा भी बाधित हुई है। हाल ही में शुरू हुई मेट्रो सेवा का भी हाल-बेहाल है। मेट्रो ट्रेनों में एसी सिस्टम बोगियों की छत पर लगा होने से बारिश का पानी अंदर तक आ गया। इसे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

अपने निर्धारित समय से करीब 25 दिन देर से मुंबई पहुंचे मानसून की पहली बारिश ने ही बुधवार को मुंबई को बेहाल कर दिया। जगह-जगह हुए जलभराव के कारण सड़क और रेल यातायात से लेकर हवाई सेवाएं तक प्रभावित हुईं। अगले 48 घंटे इसी तरह बारिश होने के आसार हैं। महानगर में मंगलवार की शाम से ही हल्की बरसात शुरू हो गई थी, जो बुधवार दिन में भी जारी रही। हालांकि अभी बारिश ने यहां वैसा रूप नहीं दिखाया, जिसके लिए मुंबई की बारिश जानी जाती है। इसके बावजूद बरसात को लेकर की गई मुंबई महानगरपालिका की तैयारियों की पोल खुलती दिखाई दी।

मुंबई के उत्तरी और दक्षिणी हिस्से को जोड़नेवाले दो प्रमुख मार्गों पश्चिम एक्सप्रेस हाइवे एवं लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर जगह-जगह हुए जलभराव के कारण ऑटो-टैक्सी एवं अन्य वाहन बंद पड़ते दिखाई दिए। जिसके कारण सड़क पर लंबा जाम दिखाई दिया। खासतौर से उपनगरीय ट्रेनों के हार्बर रूट पर कई जगह रेल की पटरियों पर पानी भर जाने से उपनगरीय रेल सेवाएं भी बाधित हुईं। कुछ ही समय पहले शुरू हुई मेट्रो रेल ने बुधवार को लोगों को विशेष राहत पहुंचाई। शहर के पूर्वी और पश्चिमी हिस्से को जोड़नेवाली इस सेवा में आज अन्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा भीड़ रही। बीएमसी अधिकारियों का कहना है कि वह फिलहाल अधिक जलभराव वाले इलाकों पर नजर रख रहे हैं ताकि बारिश से होने वाली समस्या से निपटा जा सके।

दिल्ली : बारिश ने थामी बढ़ते तापमान की रफ्तार

राष्ट्रीय राजधानी तथा उसके आसपास के कुछ क्षेत्रों में हुई बारिश ने तापमान पर दबाव बनाकर उसे और बढ़ने से रोक दिया है। गहरे बादल छाने और तेज हवाओं के चलने से गर्मी से परेशान लोगों को काफी राहत मिली है। मौसम विभाग न तो इस बारिश को मानसून बता पा रहा है और न ही मानसून पूर्व की बारिश। भारतीय मौसम विभाग के निदेशक बीपी यादव ने कहा कि इस बारिश को मानसून की बारिश घोषित करने से पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान के आंकड़ों का अध्ययन करना पड़ेगा।