मुंबई। मुंबई से जयपुर जा रही जेट एयरवेज की फ्लाइट में एक बड़ी लापरवाही की घटना सामने आई है। इस घटना के चलते विमान में सवार 166 यात्रियों की जान जोखिम में पड़ गई। यह फ्लाइट सुबह 5.30 बजे के आसपास जयपुर के लिए मुंबई एयरपोर्ट से रवाना हुई थी।

घटना के बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने इसका संज्ञान लिया है और डीजीसीए को इस मामले में तुरंत रिपोर्ट दाखिल करने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल, विमान का क्रू टेकऑफ करने के बाद विमान के भीतर हवा का दबाव मेंटेन करने वाला स्विच चालू करना भूल गया और इस वजह से विमान में सवार यात्रियों के नाक व कान से खून बहने लगा। कुछ यात्रियों ने सरदर्द की शिकायत भी की जिसके बाद विमान को मुंबई एयरपोर्ट पर लैंड करवाने के साथ ही सभी यात्रियों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

घटना को लेकर जेय एयरवेज ने माफी मांगी है साथ ही विमान में क्रू स्टाफ को ड्यूटी से हटा लिया है। जेट एयरवेज ने घटना को लेकर एक बयान में कहा है कि फ्लाइट में ड्यूटी पर तैनात टीम को हटा लिया गया है और एयरक्राफ्ट एक्सीडेंट इन्वेस्टीगेशन ब्यूरो ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

कंपनी ने कहा है कि जेट की फ्लाइट को आज कैबिन में एयर प्रेशर में कमी की वजह से मुंबई एयरपोर्ट पर लैटना पड़ा है। विमान नॉर्मल तरीके से लैंड हो गया है। जिन लोगों को नाक व कान से खून आने की समस्या हुई है उन्हें प्रथमिक उपचार दिया गया है।

जेट एयरवेज ने इस बीच यात्रियों के लिए दूसरी फ्लाइट की व्यवस्था की है जो 10.15 बजे उड़ान भरी।

फ्लाइट में सवार यात्रियों ने इस घटना को बेहद डरावना अनुभव करार दिया। एक यात्री ने बताया कि उड़ान भरने के बाद लोगों को दिक्कत होने लगी। क्रू ने ऑक्सीजन मास्क का उपयोग करने के लिए कहा। हम कहा गया कि विमान 15 मिनट में लैंड होगा लेकिन कहां यह नहीं बताया, यह सब बेहद डरावना था।

Posted By: