सतारा। हिल स्टेशन महाबलेश्वर पर बादल इस बार कुछ ज्यादा ही मेहरबान हो रहे हैं। जिले में इस बार अभी तक 8000 मिलीमीटर यानी 800 सेमी बारिश हो चुकी है। इस तरह बुधवार को हिल स्टेशन ने एक नया रिकार्ड कायम किया। मौसम विभाग के उपनिदेशक केएस होसलिकर ने बताया कि महाबेलेश्वर में बारिश का रिकार्ड 8000 एमएम को पार कर 8012.1 पर पहुंच गया।

मानसून के दौरान औसतन इस हिल स्टेशन पर 5530.1 एमएम बारिश होती है। उन्होंने कहा कि कई बार 24 घंटे के दौरान महाबलेश्वर में वर्षा ने 300 एमएम का रिकार्ड पार किया। उत्तर पूर्व में मेघालय का चेरापूंजी को देश में सबसे अधिक वर्षा के लिए जाना जाता था। लेकिन अब उसके पड़ोस के मावस्यानराम को यह दर्जा प्राप्त है जहां सालाना 11,870 एमएम वर्षा होती है। चेरापूंजी में सालाना 11,777 एमएम वर्षा होती है।

4,440 फीट या 1353 मीटर की ऊंचाई पर स्थित महाबलेश्वर के लिए बारिश को अच्छा माना जाता है। यह स्ट्राबेरी क्षेत्र के रूप में भी जाना जाता है। देश में 85 फीसद स्ट्राबेरी यही क्षेत्र देता है। पश्चिमी घाट में इसकी ढलान पर खेती होती है। देश की चौथी सबसे बड़ी कृष्णा सहित कम से कम पांच नदियां भी इस हिल स्टेशन से निकलती हैं।