नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे 23 मई को आने वाले हैं और उससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता ने अपनी ही पार्टी को झटका दे दिया है। राज्य के पूर्व मंत्री जयदत्त क्षीरसागर ने अपने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद खबर है कि वो शिवसेना का दामन थाम सकते हैं।

क्षीरसागर बीड़ जिले के छह विधानसभा क्षेत्रों में अकेले राकंपा विधायक थे। चुनाव के बाद विपक्षी दलों को यह दूसरा झटका है। दो दिन पहले ही कांग्रेस की महिला नेता प्रियंका शर्मा कांग्रेस छोड़कर शिवसेना में शामिल हुई थीं। उन्होंने नाराजगी के चलते पार्टी छोड़ी थी। उस वक्त वह पार्टी की प्रवक्ता के तौर पर काम कर रही थीं।

जयदत्त क्षीरसागर हाल ही में शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से उनके निवास मतोश्री पर मिलने पहुंचे थे। बीड़ जिले के छह विधानसभा क्षेत्रों में जयदत्त अकेले राकांपा विधायक थे। बाकी सभी भाजपा से हैं। बताया जा रहा है कि क्षीरसागर राकांपा से नाराज हैं, यह नाराजगी पार्टी द्वारा उनकी अनदेखी और उनके स्थानीय प्रतिद्वंदी धनंजय मुंडे को अधिक महत्व देने को लेकर है।

बता दें कि पिछले महीने ही शिवसेना ने कहा था कि चुनाव बाद आंकड़े जुटाने के लिए पीडीपी, नेकां और राकांपा को राजग का हिस्सा नहीं बनाया जाए। शिवसेना ने जम्मू कश्मीर में पीएम मोदी की सराहना करते हुए ऐसा कहा था। शिवसेना के मुखपत्र सामना में कहा गया था कि प्रधानमंत्री उन लोगों के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे हैं जो देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं।

Posted By: Ajay Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस