मुंबई। मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्लू) ने बुधवार को पीएमसी बैंक के पूर्व निदेशक सुरजीत सिंह अरोड़ा को गिरफ्तार कर लिया। यह इस मामले में पांचवी गिरफ्तारी है। वहीं दूसरी तरफ मामले में आरोपी और HDIL ग्रुप के प्रमोटर राकेश और सारंग वाधवन ने अपनी प्रॉपर्टी बेचकर बैंक का बकाया चुकाने के लिए रिजर्व बैंक से अपील की है। जिन प्रॉपर्टीज को बेचने की बात कही गई है उनमें याच, रॉल्स रॉयस और एयरक्राफ्ट शामिल हैं।

इससे पहले बुधवार को ईओडब्लू के विशेष जांच दल (एसआईटी) ने सुरजीत को पूछताछ के लिए बुलाया था। सुरजीत बैंक के निदेशक होने के साथ ही बैंक की ऋण समिति में भी शामिल थे। पूछताछ के बाबत एक अधिकारी ने बताया, "घोटाले में उनकी भूमिका सामने आ गई है। वह ऋण मंजूरी प्रक्रिया में शामिल थे।"

बता दें कि इस घोटाले में सुरजीत से पहले हाउसिंग डेवलेपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआइएल) अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक राकेश वधावन, उनके पुत्र सारंग वधावन, पीएमसी बैंक के पूर्व अध्यक्ष वर्यम सिंह और पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस को गिरफ्तार किया जा चुका है।

बैंक घोटाले के तीन आरोपित 23 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में

मुंबई की मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अदालत ने बुधवार को पीएमसी बैंक घोटाले के तीन आरोपितों को 23 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इनमें हाउसिंग डेवलेपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक राकेश वधावन, उनके पुत्र सारंग वधावन और पीएमसी बैंक के पूर्व अध्यक्ष वर्यम सिंह शामिल हैं। पीएमसी बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस की पुलिस हिरासत अवधि भी 17 अक्टूबर को समाप्त हो रही है। उधर, अदालत के बाहर बैंक के कई जमाकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन भी किया। वे अपना पैसा वापस किए जाने की मांग कर रहे थे।

Posted By: Ajay Barve