मुंबई। पुणे की एक निजी कंपनी में काम करने वाले 30 साल के एक शख्स को गिरफ्तार किया है जिसने पिछले साल नवंबर में गामदेवी के एक डॉक्टर के साथ 2.9 लाख रुपए की धोखाधड़ी की। गामदेवी पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा कि पुणे से लाए गए आरोपी बिपिन महतो ने 21 नवंबर को डॉक्टर को कॉल किया और खुद को एक बैंक के एग्जीक्यूटिव के रूप में पेश किया था, जहां डॉक्टर का एक अकाउंट था। उस कॉलर ने बैंक के सर्विस के बारे में कुछ जानकारियां दी और डॉक्टर से अकाउंट नंबर वैरिफाई करवाया ताकि लगे कि वह वाकई बैंक से बोल रहा है और यह एक आधिकारिक कॉल है।

पुलिस के मुताबिक उसने डॉक्टर से कहा कि उन्हें जो बैंक का ऐप वह यूज कर रहे हैं उसे उन्हें अधिकृत कराना पड़ेगा। इसके लिए उसने कहा कि वह मोबाइल पर एक लिंक भेजेगा और उन्हें केवल इसे क्लिक करना होगा और उसे दूसरे नंबर पर भेजना होगा।

डॉक्टर ने उसके कहे अनुसार यह काम किया जिसके बाद उन्हें मोबाइल पर पांच मैसेज मिले जिसमें लिखा था कि उसके अकाउंट से 2.9 लाख रुपए ट्रांसफर हो गए हैं। डॉक्टर ने उस कॉलर से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन असफल रहा जिसके बाद उन्होंने शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि यह पैसा बिहार के एक शख्स बिपिन मेहतो के अकाउंट में ट्रांसफर हुआ है। पुलिस ने पुणे में उसके वर्कप्लेस पर उसे पकड़ लिया और फिलहाल कस्टडी में है।


Posted By: