महाराष्ट्र में एक बार फिर सियासत गरमाने लगी है। इस बार विपक्ष नहीं बल्कि गठबंधन सरकार के सहयोगी दलों के बीच की खींचतान ही उजागर हो रही है। महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार में अनबन की चर्चाओं के बीच शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिये सहयोगी दल कांग्रेस पर तंज कसा है। कांग्रेस के मंत्रियों अशोक चव्हाण और थोरात के हालिया बयानों को लेकर राज्य की राजनीति गरमाने के साथ ही गठबंधन सरकार में सबकुछ ठीक न होने की सुगबुगाहट तेज हो चली है। इस बीच शिवसेना ने कहा 'खटिया क्यों चरमरा रही है?'

सामना में कांग्रेस के लिए कहा गया है कि 'पार्टी ने कहा कि खटिया पुरानी है लेकिन इसकी ऐतिहासिक विरासत है। पुरानी खाट पर करवट बदलने वाले भी कई लोग हैं, ऐसे में इसकी कुरकुर महसूस होने लगी है।'

सामना में ये भी कहा

अशोक चव्हाण और थोरात के बयानों पर सामना के संपादकीय में शिवसेना ने कहा कि 'हम सीएम से मिलकर बात करेंगे, थोरात ने ऐसा कहा। उसी खाट पर बैठे अशोक चव्हाण ने एक इंटरव्यू दिया और संयम से कुरकुराए कि सरकार को कोई खतरा नहीं है, लेकिन सरकार में हमारी बात भी सुनी जाए।' पार्टी ने आगे कहा कि 'ऐसा तय हुआ कि इस खाट के दोनों मंत्री महोदय अब सीएम से मिलकर अपनी बात कहने वाले हैं'

महाराष्ट्र में कोरोना संकट बरकरार

महाराष्ट्र में एक ओर जहां गठबंधन सरकार में अनबन की खबरें आ रही हैं, वहीं कोरोना संक्रमण की वजह से राज्य के हालात मुश्किलभरे बने हुए हैं। देश में जहां करीब साढ़े तीन लाख कोरोना संक्रमित मरीज हो चुके हैं, वहीं अकेले महाराष्ट्र में ही मरीजों की संख्या 1 लाख को पार कर चुकी है। ऐसे में इस कठिन वक्त में सरकार में खींचतान की खबरों से परेशानी बढ़ सकती है।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020