मुंबई। मुंबई लोकल में चढ़ते समय होने वाली दुर्घटनाओं से यात्रियों को बचाने के लिए रेलवे ने एक तकनीक खोज निकाली है। रेलवे की तरफ से मुंबई में ट्रेनों के कोच के गेट पर नीले रंग की लाइट लगाई जा रही है, जो ट्रेन दुर्घटनाओं को रोकने में काफी मददगार साबित हो सकती है। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक वीडियो ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि, रेलवे कोये तरीका सुझाने वाले इंजीनियर कौन है।

डिवाइस बनाने के लिए छोड़ दी थी नौकरी

मुंबई के वसई में रहने वाले इंजीनियर जोसेफ की ओर से यह डिवाइस रेलवे को दिया गया है। जोसेफ के अनुसार, ट्रेन के हर कोच के गेट पर लगा एक नीले रंग का लाइट ऑडियो-विजुएल अलार्म की तरह काम करेगा। यह यात्रियों को उस समय चेतावनी देगा, जब ट्रेन प्लेटफॉर्म से निकलने वाली होगी। इस डिवाइस को बनाने के वाले इंजीनियर जोसेफ ने जून 2016 में अपनी नौकरी से इस्तीफ दे दिया था। वे लगातार दो सालों से इस डिवाइस पर काम कर रहे थे। 31 मार्च 2018 को इस डिवाइस पर मिड-डे ने एक स्पेशल रिपोर्ट दी थी। जिसमें लिखा गया था कि इस डिवाइस के जरिए काफी हद तक लोकल ट्रेनों में होने वाले हादसों पर कंट्रोल किया जा सकता है।

कैसे काम करता है ये डिवाइस

सीआर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुनील उदासी ने डिवाइस के काम करने के तरीके के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि, ट्रेन जैसे ही स्टार्ट होती है नीली बत्ती जलने-बुझने लगती है। बत्ती के जलने-बुझने के बाद ट्रेन प्लेटफॉर्म से रवाना हो जाती है। दरअसल रेलवे स्टेशन पर कई बार जब जल्दबाजी में यात्री ट्रेन में सवार होते हैं तो वह फिसल कर हादसों का शिकार हो जाते हैं। रेलवे को उम्मीद है कि यह डिवाइस यात्रियों को ट्रेन के प्लेटफॉर्म से निकलने से पहले सावधान करेगी और इससे हादसों में कमी आएगी।

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुनील उदासी ने बताया, 'यदि इस कदम से एक भी शख्स की जान बचती है, तो योजना को सफल माना जाएगा। भविष्य में अन्य ट्रेनों में ब्लू लाइट लगाई जाएगी।' जानकारों की राय में जानलेवा खतरे को टालने का यह तरीका अच्छा है। मुंबई लोकल में सफर करने वाले यात्रियों की जान बचाने के लिए किए जा रहे इस प्रयोग को एक बड़ा उपाय माना जा रहा। हालही में इस डिवाइस का सीएसटी से कल्याण स्टेशन तक परीक्षण किया गया, जो कि सफल रहा।

यह रेलवे का पायलट प्रोजेक्ट है

रेलवे की तरफ से मुंबई में ट्रेनों के कोच के गेट पर नीले रंग की लाइट लगाई जा रही है। इससे ट्रेन दुर्घटनाओं को रोकने में काफी मदद मिलेगी। अभी यह रेलवे का पायलट प्रोजेक्ट है। परीक्षण में सफल होने के बाद रेलवे इसे पूरी तरह से लागू करेगी। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने सोशल अकाउंट पर एक वीडियो शेयर कर इस बात की जानकारी दी है। गोयल ने वीडियो शेयर करने के साथ लिखा है कि- 'Safety First: मुम्बई में ट्रेन में चढ़ते यात्रियों के लिए कोच के गेट पर नीले रंग की लाइट लगाई जा रही है, जो यात्रियों को गाइड करेगी कि ट्रेन स्टार्ट हो गयी है, इससे अंत समय मे ट्रेन में चढ़ने से होने वाली दुर्घटनाओं पर रोक लगेगी।'

Posted By: