मुंबई। मॉल में थोड़ी सी लापरवाही, बड़े हादसे का सबब बन सकती है। मुलुंड में एक शॉपिंग मॉल में एस्केलेटर (स्वचालित सीढ़ियों) की वजह से दो साल के एक बच्चे की तीन उंगलियां कट गई। भांडुप के रहने वाले रवींद्र राजीवडे अपने परिवार के साथ मॉल में घूमने के लिए गए थे। वहां उनका दो वर्षीय बेटा हाथ छुड़ाकर एस्केलेटर की तरफ चला गया और सीढ़ियों में गिरने के बाद उसका हाथ उसमें फंस गया, जिससे उसकी तीन उंगलियां कट गईं।

यह घटना मंगलवार रात की है, जब रवींद्र अपने परिवार और दोस्तों के साथ मॉल गए थे। ऑटो चालक छब्बीस वर्षीय रविंद्र ने बताया कि आर मॉल के फूड कोर्ट में नाश्ता करने के बाद वे ग्राउंड फ्लोर पर चले गए। इस दौरान मेरी पत्नी वहां दुकान में खरीदारी में व्यस्त थी, तो मैं अपने बेटे चिन्मय का हाथ पकड़े हुए था। अचानक वह मेरा हाथ छोड़कर एस्केलेटर की ओर चल दिया। रविंद्र ने तुरंत उसका पीछा किया, लेकिन तब तक बच्चा एस्केलेटर पर चढ़ने की कोशिश करने लगा था, जिसकी सीढ़ियां नीचे की ओर जा रही थीं।

रवींद्र ने कहा कि अगले ही पल वह गिर गया और उसका दाहिना हाथ दो सीढ़ियों के बीच फंस गया। मैं मदद के लिए चिल्लाया, लेकिन उस वक्त आस-पास कोई नहीं था। जब तक मॉल प्रशासन कोई कार्रवाई करता, तब तक चिन्मय के दाहिने हाथ की तीन उंगलियां कट चुकी थीं। इस हादसे में रवींद्र के अंगूठे और तर्जनी में भी मामूली चोट लगी थी। उन्हें पहले प्लेटिनम अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उनका इलाज करने में असमर्थता जाहिर कर दी। फिर उन्हें मुलुंड के राज अस्पताल ले जाया गया।

चिन्मय के हाथ में 25 टांके आए हैं। उन्हें बुधवार को केईएम अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने हमें फॉलो-अप के लिए शुक्रवार को आने के लिए कहा है। इस बीच, जब परिवार ने मुलुंड पुलिस से संपर्क किया और उन्हें घटना के बारे में सूचित किया, तो वरिष्ठ पीआई रवि सरदेसाई ने कहा कि हमने पीड़ित के पिता का एक संक्षिप्त बयान ले लिया है। हम सीसीटीवी फुटेज की जांच करेंगे और पता लगाएंगे कि क्या इस मामले में मॉल प्रबंधन की कोई गलती है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai