हिंगोली Janmashtami 2020 भगवान कृष्ण के पौराणिक महत्व के साथ-साथ पूरे भारतवर्ष में कई ऐतिहासिक प्रमाण भी कई स्थानों पर उपलब्ध हैं। जन्माष्टमी के विशेष अवसर हम आपको बताते हैं एक ऐसे विशेष गांव के बारे में, जहां के सभी ग्रामीण खुद को भगवान कृष्ण का वंशज मानते हैं और इसलिए गांव में दूध का कभी व्यापार नहीं किया जाता है। ये गांव है महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में, जहां पूरे गांव में दूध फ्री में बांटा जाता है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के अनेक किसानों और नेताओं ने हाल ही में दूध के दाम बढ़ाने की मांग को लेकर जमकर प्रदर्शन किया था और विरोध जताने के लिए दूध उत्पादक किसानों ने सड़कों पर दूध फैलाया था, वहीं येलेगांव गावली गांव के लोगों ने कभी दूध नहीं बेचा।

इस गांव में लगभग हर घर में दूध देने वाले पशु हैं। येलेगांव गावली गांव के निवासी राजाभाऊ मंडाडे (60) ने बताया कि 'येलेगांव गावली का मतलब ही है दूधियों का गांव। हम खुद को भगवान कृष्ण का वंशज मानते हैं और इसलिए कभी भी हम दूध नहीं बेचते।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक गांव में 90 फीसदी घरों में दुधारु पशु हैं और दूध बेचने की मनाही यहां पीढ़ियों से चली आ रही है। गांव का एक भी परिवार दूध नहीं बेचता है। ग्रामीणों के मुताबिक जब गांव में ज्यादा दूध हो जाता है तो जरूरतमंद लोगों में फ्री में बांट दिया जाता है।

हिंदू हो या मुसलमान, कोई भी नहीं बेचता दूध

राजभाऊ मंडाडे बताते हैं कि येलेगांव गावली में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी भी काफी उत्साह के साथ मनाई जाती है। लेकिन इस साल कोविड-19 बीमारी के कारण जन्माष्टमी के सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। गांव के सरपंच शेख कौसर (44) का भी कहना है कि दूध नहीं बेचने की परंपरा का यहां सभी धर्मो के लोग पालन करते हैं। शेख कौसर ने बताया कि गांव का कोई भी आदमी, चाहे हिंदू हो या मुसलमान या किसी अन्य धर्म से ताल्लुक रखने वाला हो, कोई भी अपने मवेशी का दूध नहीं बेचता है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020