मुंबई। Maharashtra Government Formation: महाराष्ट्र में शिवसेना से गठबंधन कर सरकार बनाने की संभावना पर चर्चा के लिए कांग्रेस और राकांपा नेताओं की बुधवार को बैठक होनी है। इसमें कांग्रेस की ओर से मल्लिकार्जुन खडगे, अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल के अलावा राज्य के कुछ वरिष्ठ पार्टी और राकांपा के प्रफुल्ल पटेल, सुनील तटकरे, अजीत पवार, जयंत पाटिल शामिल होंगे। इसके पहले राकांपा प्रमुख शरद पवार ने सोमवार को खुद सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा था कि यदि राकांपा और कांग्रेस को सरकार गठन पर कोई रुख तय करना है तो पहले आपस में विचार-विमर्श करना होगा। शिवसेना से गठबंधन पर चर्चा के लिए कांग्रेस-राकांपा की मंगलवार को होने वाली बैठक रद्द हो गई। राकांपा नेता नवाब मलिक ने बताया कि इंदिरा गांधी की जयंती के कारण कांग्रेस नेताओं ने बैठक टालने का आग्रह किया था। अब यह बुधवार को होगी।

महाराष्ट्र पर सोनिया की मंत्रणा

इस बीच, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं- एके एंटोनी, अहमद पटेल, मल्लिकार्जन खड़गे तथा केसी वेणुगोपाल से महाराष्ट्र मामले में मंत्रणा की। बुधवार को कांग्रेस और राकांपा नेताओं की होने वाली बैठक में न्यूनतम साझा कार्यक्रम (सीएमपी) पर चर्चा होगी।

मुख्यमंत्री पद पर अब राकांपा का भी दावा!

इन सब कवायद के बीच शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस के संभावित गठबंधन की सरकार बनने की सूरत में एक नया फॉर्मूला भी सामने आ रहा है। सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री पद पर राकांपा की भी दावेदारी है। ढाई-ढाई साल के लिए शिवसेना और राकांपा के मुख्यमंत्री बनाने की बात हो रही है। हालांकि इसके तहत ढाई साल का पहला टर्म शिवसेना को दिया जाएगा। सूत्र बताते हैं कि इस फॉर्मूले के तहत कांग्रेस को विधानसभा स्पीकर का पद मिलेगा और इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण का नाम लिया जा रहा है। वहीं मंत्रिमंडल में तीनों दलों की बराबर भागीदारी होगी।

Posted By: Navodit Saktawat