नासिक। शिरडी के साईंबाबा की जन्मभूमि के स्थान को लेकर महाराष्ट्र की सियासत गरमा गई है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परभणी जिले के नजदीक पाथरी को साईं बाबा की जन्मस्थली को विकसित करने की बात को लेकर नाराज शिरडी के लोगों ने 19 जनवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल कर दी है। यहां के होटल और दुकानें सब बंद रहेगी, लेकिन मंदिर खुला रहेगा।

श्री साईबाबा संस्थान ट्रस्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपक मधुकर मुगलिकर ने कहा है कि शिरडी में साईं बाबा मंदिर 19 जनवरी को भी खुला रहेगा और शहर के बंद होने से यह प्रभावित नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मीडिया में खबरें आ रही हैं कि शिरडी में साईं मंदिर 19 जनवरी को बंद रहेगा। मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि यह सिर्फ अफवाह है और मंदिर 19 जनवरी को भी खुला रहेगा।

साईंबाबा ट्रस्ट के सदस्य बी वाकचुरे ने कहा कि शिरडी आने पर भक्तों को किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा। बताते चलें कि उद्धव ठाकरे ने परभणी के पास स्थित पाथरी को साईं बाबा की जन्मभूमि करार देते हुए उसके विकास के लिए 100 करोड़ का बजट देने की घोषणा भी कर दी थी।

मगर, ठाकरे की इस घोषणा के बाद से ही शिरडी के लोगों में नाराजगी है और इसके विरोध में उन्होंने अनिश्चितकालीन बंद का आह्वान किया है। लोगों का कहना है कि पाथरी का विकास कराने में उन्हें कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन उस जगह की पहचान साईं की जन्मस्थली के तौर पर नहीं हो सकती है।

बताते चलें कि शिरडी के साईंबाबा मंदिर में हिंदुओं और मुस्लिमों, दोनों धर्मों के लोग आते हैं। हर साल यहां लाखों लोग साईं के दर्शन का लाभ लेते हैं।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket