AIIMS अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने शुक्रवार को कहा कि वायरस को फैलने से रोकने के लिए कम से कम 14 दिन का लॉकडाउन होना चाहिए। छोटे-छोटे समय के लिए लॉकडाउन लगाने से कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने में कोई मदद नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि बड़े शहरों में अगले कुछ हफ्तों में नए मामलों के बढ़ने में कमी आएगी, लेकिन पूरे देश में बढ़ते मामलों में कमी आने में अभी कुछ समय लगेगा। पिछले कुछ दिनों से देश में लगातार 20 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं, जबकि दिल्ली समेत बड़े शहरों में नए मामलों में कमी आई है। महाराष्ट्र के पुणे शहर में महामारी को रोकने के लिए 10 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। भारतीय स्टेट बैंक की तरफ से आयोजित सम्मेलन में गुलेरिया ने कहा कि गुलेरिया ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए कम अवधि के लाकडाउन का कोई फायदा नहीं होगा। संक्रमण को रोकने के लिए कम से कम 14 दिन का लॉकडाउन होना चाहिए।

उन्होंने यह भी कहा कि पूरे शहर को लॉकडाउन करने से अच्छा है कि खास इलाके को कंटेनमेंट जोन में बदल दिया जाए। वहां पाबंदिया लगाई जाएं। गुलेरिया ने कहा कि संक्रमण को रोकने की जिम्मेदारी सबकी है। लॉकडाउन के बाद भी शारीरिक दूरी बनाए रखने, मास्क पहनने और सार्वजनिक स्थलों पर स्वच्छता बनाए रखने के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि देश के लिए यह परीक्षा की घड़ी है।

आर्थिक गतिविधियों को चलाने के लिए लॉकडाउन हटाना ही है, इसलिए यह हम सब की जिम्मेदारी है कि हालात खराब न होने पाए। बढ़ते मामलों को देखते हुए पुणे, निकटवर्ती औद्योगिक शहर पिंपरी-चिंचवड़ और अन्य इलाकों में 14 जुलाई से 10 दिन के लिए और ठाणे में 19 जुलाई तक लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की गई है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021