नई दिल्ली। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने संसद को बताया कि 2015-2018 के दौरान कुल 181 पायलट अलकोहल जांच में पॉजिटिव पाए गए। लोकसभा में सवाल का जवाब देते हुए नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि 2015 में 43 और 2016 में 44 पायलट अलकोहल जांच में पॉजिटिव पाए गए।

2017 में यह संख्या 45 पर पहुंच गई और नवंबर 2018 तक ऐसे 49 मामले सामने आ चुके थे। नवंबर में एयर इंडिया के कैप्टन अरविंद कथपालिया को हटा दिया गया। इससे एक दिन पहले नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने उनका लाइसेंस तीन साल के लिए निलंबित कर दिया था।

27 हवाई अड्डों से विमानों की उड़ान या लैंडिंग नहीं

एक अन्य सवाल के लिखित उत्तर में केंद्रीय मंत्री सिन्हा ने कहा कि हवाई अड्डा प्राधिकरण ने पिछले वित्त वर्ष के दौरान 27 हवाई अड्डों की देखरेख पर 2.61 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। इन हवाई अड्डों से विमानों ने न तो उड़ान भरी और न ही वहां लैंडिंग हुई।

2017-18 के दौरान 20 फीसद बढ़े विमान यात्री

नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा कहा कि पूर्व वर्ष की तुलना में इस वर्ष जनवरी से अक्टूबर के बीच यात्रियों की संख्या में 20 फीसद की वृद्धि हुई। एक सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष जनवरी से अक्टूबर के बीच यात्रियों की संख्या नौ करोड़ 51 लाख थी। इस वर्ष उसी अवधि में यह संख्या 11 करोड़ 44 लाख हो गई।

2015-17 के दौरान एक अरब से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए

देश में 2015-17 के दौरान एक अरब से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए और 85,673 करोड़ रुपये की संपत्ति तबाह हुई। लोकसभा में जल संसाधन राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने एक सवाल के लिखित उत्तर में बताया कि इस अवधि में 4,902 लोग और 82,146 पशु मारे गए।

2014-15 के बीच सरकार ने विज्ञापन पर 5200 करोड़ खर्च किए

केंद्र सरकार ने 2014-15 के दौरान इलेक्ट्रानिक, प्रिंट एवं अन्य मीडिया में विज्ञापन पर 5200 करोड़ रुपये खर्च किए। सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री रज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने लोकसभा में एक लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

Posted By: