नई दिल्ली। रेलवे ने पिछले चार साल में 73,000 से अधिक किन्नरों को जबरन वसूली के मामले में गिरफ्तार किया है। रेलवे ने यह जानकारी सूचना का अधिकार (आरटीआई) अधिनियम के तहत पूछे गए एक सवाल के जबाव में दी है। यानी रेलवे के अनुसार औसतन 50 किन्नर रोजाना गिरफ्तार किए गए हैं।

अधिकारियों के मुताबिक यात्री अक्सर चलती ट्रेनों में किन्नरों द्वारा परेशान किए जाने की शिकायत करते हैं। ये ट्रेनों में चढ़ जाते हैं और उनसे जबरन पैसे वसूलते हैं पैसे देने से मना करने की नौबत में शारीरिक उत्पीड़न के भी मामले सामने आए है। यात्रियों में से कुछ को दुर्व्यवहार का भी सामना करना पड़ा है।

रेलवे सुरक्षा बल ने ऐसी घटनाओं की जांच के लिए विशेष अभियान चला रहा है। आरटीआइ के तहत पूछे गए सवाल के जवाब में, रेल मंत्रालय ने कहा कि 2015 से इस साल जनवरी तक यात्रियों से पैसे की उगाही करने के आरोप में कुल 73,837 किन्नर गिरफ्तार किए गए। 2015 में कुल 13,546, 2016 में 19,800, 2017 में 18,526 और 2018 में 20,566 किन्नर गिरफ्तार किए गए हैं। मंत्रालय ने कहा कि इस साल जनवरी में 1,399 किन्नर गिरफ्तार किए गए।