7th Pay Commission: इस साल सरकारी कर्मचारियों की दीवाली जल्द आ गई है। दरअसल भारत सरकार ने सातवें वेतन आयोग के तहत कर्मचारियों के महंगई भत्ते को 3 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है। पहले डीए 28 फीसद था, जो अब 31 प्रतिशत हो गया है। महंगाई भत्ता में वृद्धि के बाद कर्मचारियों का वेतन उनके ग्रेड के अनुसार बढ़ेगा। केंद्र सरकार द्वारा डीए और डीआर बढ़ाने से 47.14 लाख केंद्र कर्मचारियों और 68.62 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा। सरकार के इस फैसले से कर्मचारी और पेंशनर सालाना वेतन पैकेज को घर ले जा सकेंगे। सैलरी वृद्धि कर्मचारी के मूल वेतन और ग्रेड के अनुसार होगा। इससे पहले जुलाई में केंद्र ने महंगाई भत्ता को बढ़ाकर 28 फीसद करने का निर्णय लिया था। इसे एक बार फिर बढ़ोतरी कर 31 प्रतिशत तक दिया है। कहा जा रहा है कि डीए वृद्धि के अनुसार बढ़ा हुआ वेतन दीवाली से पहले सैलरी में शामिल होगा। सातवें वेतन आयोग के अनुसार स्तर 1 केंद्रीय कर्मचारी का वेतन 18000 रुपए से 56900 रुपए तक है। 18000 रुपए के सैलरी वाले कर्मचारी के लिए सालाना वृद्धि 30,240 रुपए होगी। ऐसे-

कर्मचारी का मूल वेतन- 18,000 रुपये

नया महंगाई भत्ता (31%) - रु 5580/माह

अब तक का महंगाई भत्ता (17%) - 3060 रुपये प्रति माह

डीए में वृद्धि (5580-3060) - 2520 रुपये/माह

वार्षिक वेतन वृद्धि (2520*12) - रु 30,240

उसी गणना के अनुसार, 56900 रुपये के वेतन के साथ एक केंद्र सरकार के कर्मचारी की वार्षिक वेतन वृद्धि है।

कर्मचारी का मूल वेतन- 56900 रुपये

नया महंगाई भत्ता (31%) – 17639 रुपये/माह

अब तक का महंगाई भत्ता (17%) – 9673 रुपये/माह

डीए में वृद्धि (17639-9673) - 7966 रुपये/माह

वार्षिक वेतन वृद्धि (7966*12)- 95,592 रुपये

31 फीसदी डीए के मुताबिक 56,900 रुपये के मूल वेतन पर कुल सालाना महंगाई भत्ता 2,11,668 रुपये होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सैलरी और महंगाई भत्ता में बदलाव का असर दिवाली से पहले केंद्र सरकार के कर्मचारी के पैकेज में दिखेगा।

Posted By: Navodit Saktawat