7th pay commission latest news । केंद्रीय कर्मचारियों के लिए एक राहत वाली खबर है। दिवाली पर कर्मचारियों को एक साथ तीन सौगातें मिलने की उम्मीद है। पहली खुशखबरी ये है कि केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (Dearness Allowance DA) में एक बार फिर बढ़ोतरी हो सकती है और सैलरी में बढ़ी हुई राशि मिल सकती है, वहीं दूसरी खुशखबरी ये हो सकती है कि कर्मचारियों के DA एरियर पर सरकार से चल रही बातचीत पर जल्द ही कोई नतीजा निकल सकता है। वहीं पीएफ (Provident Fund) पर ब्याज दिवाली से पहले खाते में जमा हो सकता है।

महंगाई भत्ते में फिर बढ़ोतरी

जुलाई 2021 का महंगाई भत्ता (DA) तय नहीं किया गया है, लेकिन जनवरी से मई 2021 के AICPI आंकड़ों जानकारी मिलती है कि महंगाई भत्ते में 3 फीसदी तक की बढ़त होने की उम्मीद है। महंगाई भत्ता 3 फीसदी और बढ़ने के बाद 31 फीसद तक पहुंच जाएगा। ऐसे में तमाम मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार दिवाली के पहले महंगाई भत्ते को बढ़ाने का ऐलान कर सकती है।

इस साल अभी तक बढ़ा 11 फीसदी महंगाई भत्ता

गौररतलब है कि बीते साल के मुकाबले इस साल महंगाई भत्ता अभी तक 11 फीसदी तक बढ़ चुका है। केंद्र सरकार ने जुलाई 2021 से महंगाई भत्ता 28 फीसदी कर दिया है। अगर अब जून 2021 में 3 फीसदी बढ़ता है तो इसके बाद महंगाई भत्ता 31 प्रतिशत पर पहुंच जाएगा। ऐसे में यदि किसी कर्मचारी का मूल वेतन 50 हजार रुपए हैं तो उसे 15500 रुपए महंगाई भत्ते के रूप में अलग से मिलेंगे।

महंगाई भत्ता एरियर भी मिल सकता है

वहीं दूसरी ओर कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि केंद्रीय कर्मचारी उम्मीद कर रहे हैं कि उन्हें दिवाली से पहले उन्हें 18 महीने से रुका हुआ DA एरियर मिल जाए। अब 18 महीने से पेंडिंग एरियर का मामला प्रधानमंत्री मोदी तक पहुंच गया है। पीएम मोदी जल्द ही इस पर कोई फैसला ले सकते हैं। कर्मचारियों को दिवाली तक 18 महीने का रूका हुआ महंगाई भत्ता एरियन के रूप में मिल गया तो दीपावली की खुशी दोगुनी हो जाएगी।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन भी देगा ये खुशखबरी

इसके अलावा केंद्रीय कर्मचारियों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की तरफ से भी बड़ी खुशखबरी मिल सकती है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के 6 करोड़ से अधिक अकाउंट होल्डर्स को ब्याज का पैसा ट्रांसफर कर सकता है।

केंद्रीय कर्मचारियों के HRA में भी बदलाव

महंगाई भत्ता बढ़ने के बाद अन्य भत्तों में भी बढ़ोतरी हुई है। हाउस रेंट अलाउंस (HRA) में सबसे ज्यादा फायदा मिला है। एचआरए को भी संशोधित किया गया था क्योंकि महंगाई भत्ता 25 प्रतिशत को पार कर गया था। डीओपीटी के मुताबिक महंगाई भत्ते के आधार पर केंद्रीय कर्मचारियों के लिए हाउस रेंट अलाउंस (एचआरए) में संशोधन किया गया है। बढ़े हुए HRA का लाभ सभी कर्मचारियों को मिल रहा है। शहर की कैटेगरी के हिसाब से HRA 27 फीसदी, 18 फीसदी और 9 फीसदी हो गया है। यह बढ़ोतरी 1 जुलाई 2021 से DA के साथ भी लागू है।

हाउस रेंट अलाउंस (HRA) की श्रेणी X, Y और Z श्रेणी के शहरों के अनुसार है। एक्स श्रेणी के अंतर्गत आने वाले केंद्रीय कर्मचारियों को अब 5400 रुपए हर माह मिलेंगे। Y क्लास के लिए 3600 रुपए और Z क्लास के लिए 1800 रुपए प्रतिमाह मिलेंग।

कर्मचारी ऐसे करें HRA का कैलकुलेशन

7वें वेतन मैट्रिक्स के मुताबिक कर्मचारियों का अधिकतम मूल वेतन 56,000 रुपए प्रति माह है, तो 27 प्रतिशत की दर से कितना एचआरए होगा, यह सरल गणना से समझा जा सकता है।

HRA = 56000 x 27/100 = 15120 रुपए प्रति माह

पहला एचआरए = रु 56000 x 24/100 = रु 13440 प्रति माह

अधिकतम वेतन वाले कर्मचारियों में हर माह 1630 रुपए की वृद्धि की गई है। ऐसे में उनके वेतन में वर्ष के आधार पर 20160 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। जब 7वां वेतन आयोग लागू हुआ तो HRA 30, 20 और 10 फीसदी से घटाकर 24, 18 और 9 फीसदी कर दिया गया। साथ ही इसने 3 कैटेगरी X, Y और Z बनाई थी। उस दौरान महंगाई भत्ता भी घटाकर जीरो कर दिया गया था। उस समय ही डीओपीटी की अधिसूचना में उल्लेख किया गया था कि जब महंगाई भत्ता 25 प्रतिशत का आंकड़ा पार करेगा, तो HRA भी खुद ही संशोधित किया जाएगा। 50 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहर X कैटेगरी में आते हैं। ऐसे में इन शहरों में तैनात केंद्रीय कर्मचारियों को 27 फीसदी HRA मिलेगा। वहीं, Y कैटेगरी के शहरों में तैनात कर्मचारियों को 18 फीसदी और Z कैटेगरी के शहरों में तैनात केंद्रीय कर्मचारियों को 9 फीसदी एचआरए मिलेगा।

Posted By: Sandeep Chourey