7th Pay Commission। केंद्र सरकार अपने सभी केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ी सौगात देने की तैयारी कर रही है। गणतंत्र दिवस यानि 26 जनवरी से पहले सभी केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी हो सकती है। दरअसल मोदी सरकार फिटमेंट फैक्टर को लेकर करीब 3 साल से केंद्रीय कर्मचारियों की मांग को लेकर नतीजे पर पहुंच सकती है। इसका मतलब है कि अगर केंद्रीय कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर बढ़ता है तो उनके मूल वेतन में बड़ी बढ़ोतरी हो सकती है। ऑल इंडिया कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (AICPI) नवंबर का डेटा आ गया है, जिसका सूचकांक 125.7 है। इस लिहाज से देखा जाए तो महंगाई भत्ते में 2 फीसदी की सीधी बढ़ोतरी होगी।

अभी 31 फीसदी मिलता है महंगाई भत्ता

केंद्रीय कर्मचारियों को फिलहाल 31 फीसदी महंगाई भत्ता मिल रहा है। जनवरी में डीए बढ़ोतरी की घोषणा हो सकती है। इसके बाद कर्मचारियों को 33 फीसदी डीए मिलना शुरू हो जाएगा। दरअसल डीए बढ़ाने से पहले सरकार फिटमेंट फैक्टर को लेकर फैसला ले सकती है। अभी फिटमेंट फैक्टर 2.57 है, जबकि कर्मचारी लंबे समय से इसे 3.68 करने की मांग कर रहे हैं। 26 जनवरी से पहले सरकार किसी नतीजे पर पहुंच सकती है।

फिटमेंट फैक्टर तय करता है मूल वेतन

दरअसल फिटमेंट फैक्टर सभी केंद्रीय कर्मचारियों के लिए मूल वेतन तय करता है। फिटमेंट फैक्टर को आखिरी बार 2016 में बढ़ाया गया था, तब न्यूनतम मूल वेतन 6,000 रुपए से बढ़ाकर 18,000 रुपए हुआ था। फिटमेंट फैक्टर में संभावित वृद्धि से न्यूनतम मूल वेतन 26,000 रुपए होने की संभावना है। वर्तमान में न्यूनतम मूल वेतन 18,000 रुपए है, जो बढ़कर 26,000 रुपए हो जाएगा।

फिटमेंट फैक्टर का कैल्कुलेशन

फिटमेंट फैक्टर 3.68 होने के बाद कर्मचारियों का मूल वेतन 26 हजार रुपए हो जाएगा। अभी अगर आपकी न्यूनतम सैलरी 18 हजार रुपए है तो आपको मिलने वाले सभी भत्तों को छोड़कर 2.57 फिटमेंट फैक्टर के हिसाब से आपको 46,260 रुपये (18,000 X 2.57 = 46,260) मिलेंगे, लेकिन इसके स्थान फिटमेंट फैक्टर 3.68 है तो सैलरी 95,680 रुपए (26000X3.68 = 95,680) होगी, यानी सैलरी दोगुनी हो जाएगी।

Posted By: Sandeep Chourey