बिहार के गोपालगंज में जहरीली शराब की बरामदगी के मामले में अदालत ने शुक्रवार को 9 अभियुक्तों को दोषी करार देते हुए फांसी की सजा सुनाई। 4 महिलाओं को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। चारों महिलाओं पर दस-दस लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। यहां 2016 में जहरीली शराब पीने से 19 लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने घटना के बाद छापेमारी में भारी मात्रा में शराब बरामद की थी। गोपालगंज शहर के खजुरबानी मोहल्ले में जहरीली शराब पीने से 19 लोगों की मौत हो गई थी। उस दौरान दो लोगों की आंखों की रोशनी भी चली गई थी। उसी रात छापेमारी कर पुलिस ने भारी मात्रा में शराब बरामद की थी। घंटों चली छापेमारी में अवैध शराब के धंधेबाजों के घरों से लेकर आसपास के इलाके से शराब बरामद की गई। नगर थाना के तत्कालीन थानाध्यक्ष बीपी आलोक के बयान पर प्राथमिकी दर्ज हुई। प्राथमिकी में 14 आरोपित थे। उनमें से एक (ग्रहण पासी) की ट्रायल के दौरान मौत हो गई। शेष 13 आरोपितों में नौ पुरुष और चार महिलाएं शामिल थीं। इन आरोपितों को सुनाई सजा : फारेंसिक जांच में पाया गया कि शराब में मिथाइल है। पुलिस ने उसी आधार पर आरोप पत्र दाखिल किया। 19 लोगों की मौत के तीन दिन बाद (19 अगस्त, 2016 को) नगर थाना के थानेदार सहित 25 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। निलंबित पुलिसकर्मी हाई कोर्ट गए। जहां से इस साल फरवरी में ही हाई कोर्ट ने सभी 25 पुलिसकर्मियों को निलंबन से मुक्त करते हुए उन्हें बहाल करने का आदेश दिया।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags