Aadhaar Ration Card Linking: देश के सभी राशन कार्डों को आदार कार्ड के साथ जोड़ने का काम 93 फीसदी तक पूरा कर लिया गया है। जल्द ही देश के हर इंसान का राशन कार्ड उसके आधार कार्ड के साथ लिंक होगा। केंद्र ने शुक्रवार को यह जानकारी दी है। केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों की राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया "राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों ने राष्ट्रीय स्तर पर लगभग 21.91 करोड़ राशन कार्ड और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के 70.94 करोड़ लाभार्थियों को आधार से जोड़ने का काम पूरा कर लिया है।" देश में मौजूद 92.8 प्रतिशत राशन कार्ड आधार कार्ड से लिंक हो चुके हैं। और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के 90 फीसदी लाभार्थियों को भी आधार कार्ड से जोड़ा जा चुका है।

हर परिवार को मासिक 35 किलो राशन का लाभ

एनएफएसए में, अंत्योदय अन्न योजना के तहत आने वाले परिवारों को हर महीने 35 किलोग्राम खाद्यान्न मिलता है। इसके लिए उन्हें 1-3 रुपये प्रति किलोग्राम की कीमत भी चुकानी पड़ती है। वहीं प्राथमिकता वाले परिवारों को हर महीने प्रति व्यक्ति 5 किलोग्राम खाद्यान्न 1-3 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से दिया जाता है। देश के 80 करोड़ से अधिक लोग खाद्य कानून के दायरे में आते हैं।

33 राज्यों में लागू है NFSA

मंत्री ने ने यह भी बताया कि देश में करीब 4.98 लाख राशन की दुकानों में 23 जुलाई तक इलेक्ट्रानिक प्वायंट आफ सेल उपकरण लग चुके हैं। ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’ योजना के तहत, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून का लाभ पूरे देश में कहीं भ्री प्राप्त किया जा सकता है। अब तक 33 राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों में यह सुविधा शुरू हो चुकी है। इसके दायरे में एनएफएसए लाभार्थियों की करीब 86.7 प्रतिशत आबादी आती है। इस पोर्टेबिलिटी योजना को जुलाई 2021 से दिल्ली ने भी अपना लिया है।

Posted By: Arvind Dubey