मल्‍टीमीडिया डेस्‍क। मां के हाथों से बनी मिठाई और गर्म कॉफी आनंददायक होती है, लेकिन डेविड नेल्‍सन नाम के शख्‍स के लिए यह कुछ खास अहसास है। असल में, वह अपनी जैविक और सगी मां से पूरे 40 साल बाद मिला। यह दृश्‍य शनिवार को चेन्‍नई में सामने आया। यह कहानी फिल्‍मों की तरह ही नाटकीय है। जानिये कैसे एक बेटा अपनी मां से बरसों बाद मिल पाया।

यह है पूरा मामला

डेनमार्क में रहने वाले नेल्‍सन का असली नाम शांताकुमार है। वे 1978 में जन्‍मे थे। उनकी मां धनलक्ष्‍मी को उनके पिता कालियामूर्ति ने छोड़ दिया था। उनका एक भाई मनुअल राजन भी था। तीनों को पल्‍लवरम में चेरिटेबल होम में शरण मिली। हालांकि एक साल बाद धनलक्ष्‍मी को वहां से जाने के लिए कहा गया क्‍योंकि उन पर आरोप था कि उनकी मौजूदगी से अन्‍य बच्‍चों पर असर पड़ रहा है। इसके बाद वह अपने बच्‍चों से मिलने वहां आती रहती। एक दिन अनाथाश्रम के प्रबंधन ने उसे बताया कि उसके बच्‍चों को विदेश भेज दिया गया है ताकि वे अच्‍छा जीवन जी सकें। उसे यह नहीं पता था कि उसके बच्‍चों को गोद दे दिया गया है। कुछ महीनों बाद, उसके पति लौटे और इस दंपती को तीसरी संतान उत्‍पन्‍न हुई। इस बार धनलक्ष्‍मी ने अपने बच्‍चे को किसी ओर के पास नहीं जाने दिया। लेकिन उसका पति लापता हो गया।

डीएनए टेस्‍ट से भाई की पहचान

नीदरलैंड स्थित एक एनजीओ चलाने वाली अंजलि पवार ने अपने साथी अरूण डोहले के साथ मिलकर नेल्‍सन को उनकी मां से मिलवाया। फरवरी 2013 में नेल्‍सन को कुछ कागजात मिले और उसके जरिये उसे पता चला कि उसका एक भाई भी है जिसका नाम मनुल राजन है। उसे भी डेनमार्क में गोद दे दिया गया था। पवार ने बताया कि डीएनए टेस्‍ट से दोनों के भाई होने की पुष्टि की गई। अपने जैविक अभिभावकों को तलाशने की चाह में उन्‍होंने चेन्‍नई में खोज शुरू की। इस संबंध में अखबारों में खबरें छपीं जिन्‍हें पल्‍लवरम अनाथाश्रम के पास्‍टर की पत्‍नी व बेटी ने देखा व उन्‍होंने उसे धनलक्ष्‍मी की तस्‍वीर भेजी। इस पुराने फोटो को लेकर नेल्‍सन को उम्‍मीद जागी कि उनकी मां उन्‍हें देख सकेगी।

टीवी प्रोग्राम से मिली मदद

धनलक्ष्‍मी के रिश्‍तेदारों ने जब एक टीवी प्रोग्राम देखा जिसमें नेल्‍सन के बारे में बताया गया था, तो उन्‍होंने तत्‍काल संपर्क साधा। जल्‍द ही, मां और बेटे ने वीडियो कॉल पर बातें की।

आखिर हो ही गई मुलाकात

शनिवार को आखिर मां व बेटे का मिलना हो गया। मां ने बेटे को गले लगा लिया। नेल्‍सन ने कहा कि मेरी खुशी की कोई सीमा नहीं थी। उसने एलबम लेकर मां को अपने बचपन से लेकर बड़े होने तक के कई फोटो बताए। हालांकि दोनों का अभी डीएनए टेस्‍ट होना बाकी है लेकिन नेल्‍सन को पक्‍का यकीन है कि धनलक्ष्‍मी ही उसकी मां है।

Posted By: Navodit Saktawat