नेशनल कांफ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री रहे उमर अब्दुल्ला Omar Abdullah को जम्मू कश्मीर प्रशासन ने मंगलवार को रिहा कर दिया है। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अब्दुल्ला को पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया था। बीते छह महीनों से अब्दुल्ला हिरासत में थे। कैद से रिहा होने के बाद उन्होंने कहा कि मुझे अब अहसास हुआ है कि हम जिंदगी और मौत के बीच युद्ध लड़ रहे हैं। बता दें कि कुछ वक्त पहले ही उमर अब्दुल्ला के पिता फारुक अब्दुल्ला को रिहा किया गया था।

उमर अब्दुल्ला ने दिया ये बयान

जम्मू कश्मीर प्रशासन की कैद से रिहा होने के बाद उमर अब्दुल्ला ने कहा 'आज मुझे अहसास हुआ है कि हम जिंदगी और मौत के बीच युद्ध लड़ रहे हैं। हमारे सभी लोग जिन्हें हिरासत में लिया गया है उन्हें तत्काल रिहा कर दिया जाना चाहिए। हमें कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सरकार द्वारा दिए गए ऑर्डर को मानना चाहिए।'

फारुक अब्दुल्ला ने दिए थे 1 करोड़

कोरोना वायरस ने जम्मू कश्मीर में भी पैर पसार लिए हैं। हाल ही में कैद से रिहा हुए फारुक अब्दुल्ला ने भी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पार्टी फंड से एक करोड़ रुपए डोनेट किए थे।

32 राज्यों में हुआ लॉक डाउन

कोरोना तेजी से सभी राज्यों में पैर पसार रहा है। इसे देखते हुए सरकार ने अब तक 32 राज्यों में लॉक डाउन घोषित कर दिया है। 560 से ज्यादा जिलों में लॉक डाउन घोषित किया जा चुका है, वहीं तीन राज्यों में कर्फ्यू लग चुका है।

Posted By: Neeraj Vyas