Agnipath Recruitment Process: भारतीय नौसेना के अधिकारियों ने कहा कि अग्निपथ भर्ती योजना के पहले बैच में 20 प्रतिशत उम्मीदवार महिलाएं होंगी। उन्हें नेवी के विभिन्न हिस्सों और शाखाओं में पोस्टिंग की जाएगी। भारतीय नौसेना इस साल तीन हजार अग्निवीरों को शामिल करने की तैयारी में है। विशेष रूप से 1 जुलाई से इंडियन नेवी ने पहले बैच के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू की थी। जिसमें लगभग 10 हजार महिलाओं ने कथित तौर पर पंजीकरण कराया है। रजिस्ट्रेशन के बाद नौसेना के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 15 जून से 30 जुलाई तक होगी।

युद्धपोतों पर किया जाएगा तैनात

वाइस एडमिरल दिनेश त्रिपाठी ने पिछले महीने मीडिया से बातचीत में कहा था कि अग्रिवीरों में महिला और पुरुष दोनों को शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा, "नौसेना के पास वर्तमान में 30 महिला अधिकारी हैं। हमने तय किया है कि अग्रिपथ योजना के तहत हम महिलाओं की भी भर्ती करेंगे। उन्हें युद्धपोतों पर भी तैनात किया जाएगा।''

हिंसा में शामिल लोगों को जगह नहीं

वाइस एडमिरल त्रिपाठी ने आगे कहा कि नौसेना के पहले अग्निवीर 21 नवंबर 2022 से आईएनएस चिल्का, ओडिशा में प्रशिक्षण प्रतिष्ठान में पहुंचना शुरू कर देंगे। वहीं लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा कि अनुशासन भारतीय सेना की नींव है। आगजनी या तोड़फोड़ के लिए कोई जगह नहीं है। जो लोग अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध का हिस्सा थे। उनकी सेना में कोई जगह नहीं है। पुरी ने कहा, प्रत्येक व्यक्ति एक प्रमाण पत्र देना होगा कि वे विरोध का हिस्सा नहीं थे। पुलिस सत्यापान भी कराना होगा।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close