Agnipath Scheme Protest: सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ देशव्यापी विरोध पूरे भारत में जारी है। बिहार में जहां आंदोलनकारियों ने कथित तौर पर शुक्रवार की सुबह एक ट्रेन के दो डिब्बों में आग लगा दी। इसके अलावा केंद्र सरकार की नई सैन्य भर्ती नीति के खिलाफ सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन कर रहे युवकों पर पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गयी और तीन अन्य घायल हो गये। देश में इसे लेकर अराजकता मची हुई है। पंजाप के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने छात्रों का समर्थन करते हुए इस फैसले को वापस लिये जाने की मांग की है।

कहां कैसे हैं हालात

बिहार : हाल ही में घोषित #AgnipathRecruitmentScheme के खिलाफ चल रहे आंदोलन के बीच ट्रेनों को जला दिया गया और क्षतिग्रस्त कर दिया गया, साइकिल, बेंच, बाइक और रेलवे पटरियों पर स्टालों को फेंक दिया गया। पटना डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने कहा, हम कड़ी कार्रवाई करेंगे; मामले पर टिप्पणी नहीं करेंगे क्योंकि यह मामला संवेदनशील है लेकिन सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने के लिए इस तरह से आंदोलन करना सही नहीं है। करीब 5 लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस/यात्रियों को कोई बड़ी चोट नहीं आई। लगभग 1500 प्रदर्शनकारी यहां एकत्र हुए और दानापुर स्टेशन पर संपत्ति में तोड़फोड़ की। 24 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया। उपलब्ध सीसीटीवी और वीडियो फुटेज के आधार पर प्रदर्शनकारियों की पहचान की जाएगी। एफआईआर दर्ज की जाएगी। जल्द बहाल होगी ट्रेन सेवाएं।

दिल्ली: अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध पर डीसीपी सेंट्रल श्वेता चौहान ने कहा, दिल्ली में हर हाल में कानून-व्यवस्था बनी रहेगी। पुलिस हर आपात स्थिति के लिए तैयार है। सभी प्रकार की अवैध सभाओं को तत्काल तितर-बितर किया जा रहा है।

125 से अधिक लोग हिरासत में

बिहार में कुछ असामाजिक तत्वों ने भी विरोध प्रदर्शन में प्रवेश किया, जिससे हिंसा हुई। संजय सिंह, एडीजी, कानून और व्यवस्था, बिहार ने कहा, मैं सभी से अपील करता हूं कि कानून अपने हाथ में न लें। 24 प्राथमिकी दर्ज की गई, और अब तक 125 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close