जम्मू। जम्मू-कश्मीर में जारी भारी बारिश का असर अमरनाथ यात्रा पर पड़ा है। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है, इसके बाद प्रशासन ने 4 अगस्त तक यात्रा रोकने का फैसला किया है।

अलर्ट में कहा गया है कि अत्यधिक बारिश के कारण जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे के कुछ हिस्सों, खासकर रामबन और बनिहाल में भारी भूस्खलन हो सकता है। रामबन में ज्यादा खतरा है, क्योंकि यहां पहाड़ों से पत्थर गिर सकते हैं।

बता दें, अमरनाथ यात्रा बालटाल और पहलगाम मार्गों से हो रही है। प्रदेश में जारी बारिश के कारण इन मार्गों पर फिसलन हो गई है और यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अधिकारियों के मुताबिक, हालात पर नजर रखी जा रही है, लेकिन 4 अगस्त तक किसी जत्थे को रवाना नहीं किया जाएगा।

अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई से शुरू हुई थी और पहले 30 दिन में रिकॉर्ड 3,31,770 श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं। यात्रा 15 अगस्त, रक्षा बंधन को संपन्न होगी।

यात्रा रोके जाने से श्रद्धालुओं में निराशा है। उनका कहना है कि मौसम बाधा बनने से कई यात्री बाबा के दर्शन से वंचित रह जाएंगे। बहरहाल, लोग प्रशासन की तैयारियों पर संतोष जताया है। इस बात की निराशा है कि बारिश की आशंका में यात्रा रोकी गई है, लेकिन कुल मिलाकर इस बार बंदोबस्त पहले के सालों की तुलना में कई गुना बेहतर रहे। यही कारण है कि इस बार यात्रा के तीन साल का रिकॉर्ड तोड़ने के साथ एक महीने तक पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी के हिम शिवलिंग रूप में विराजमान रहने का भी रिकॉर्ड बना है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close