Amarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा 30 जून से शुरू होने वाली है। इसके लिए तैयारियां पूरी हो गई है। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने इसकी जानकारी दी। बताया कि इस बार यात्रा में ऑक्सीजन सिलेंडर, वाईफाई, पार्किंग और डीआरडीओ द्वारा स्थापित हेल्थ कैंप सुविधा मिलेगी। सिन्हा ने कहा, सफर के दौरान भक्तों को किसी प्रकार की हेल्थ प्रॉब्लम न हो। इसके लिए मेडिकल सुविधा मुहैया कराई जाएगी। कोविड संक्रमण के कारण पूरे दो वर्ष बार अमरनाथ यात्रा होने जा रही है। कड़ी सुरक्षा के बीच श्रद्धालु बाबा के दर्शन कर पाएंगे।

सुरक्षा इंतजामों को लेकर समीक्षा बैठक

इससे पहले उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने अमरनाथ यात्रा के लिए सुरक्षा इंतजामों और अन्य तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की। इस मीटिंग में मुख्य सचिव, गृह विभाग, पुलिस, सेना और अर्ध सैनिक बलों से जुड़े अधिकारी शामिल हुए। इस बैठक में अधिकारियों ने उपराज्यपाल सिन्हा को अमरनाथ यात्रा को लेकर की गई तैयारियों के बारे में विस्तार से बताया गया।

आतंकी घुसपैठ की आशंका

लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आठ से नौ आतंकियों के दो दल अमरनाथ यात्रा शुरू होने से पहले ही घुसपैठ की फिराक में हैं। पाकिस्तानी सेना और उसकी खुफिया एजेंसी आइएसआइ का पूरा साथ मिल रहा है। सुरक्षाबलों को यह भी इनपुट मिले हैं कि हाल ही में पाकिस्तान में लगे बाबा चमलियाल के मेले में भी ये आतंकी मौजूद थे। इन आतंकियों को आतंकी जम्मू, सांबा, कठुआ और पठानकोट में सैन्य शिविरों और अमरनाथ यात्रा में खलल डालने का फरमान मिला है। इसके अलावा सुरक्षाबलों को लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के बारे में इनपुट मिला है। ये आतंकी कठुआ जिले में घुसपैठ की फिराक में हैं। इनकी संख्या चार से पांच बताई जा रही है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close