केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के अपने तीन दिवसीय दौरे के पहले दिन आतंकवाद पर परोक्ष रूप से करारा हमला बोला। शाह ने अपने दौरे के पहले दिन श्रीनगर में सुरक्षा के मसले पर एक हाईलेवल समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। शाह ने राजभवन में आयोजित बैठक में अल्पसंख्यकों और गैर-स्थानीय लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी ली। मालूम हो कि हाल के दिनों में आतंकियों की ओर से गैर कश्‍मीरी और हिंदू समुदाय के लोगों की लक्षित हत्याएं की गई हैं। बीते 15 दिनों में 11 नागरिक मारे जा चुके हैं। शाह ने शनिवार को श्रीनगर में यूथ क्लब के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं यकीन दिलाता हूं कि जम्मू-कश्मीर की शांति में जो भी खलल डालना चाहेगा उससे हम सख्ती से निपटेंगे। शाह ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर में विकास की जो यात्रा शुरू हुई है उसमें कोई भी रोढ़ा नहीं अटका पाएगा। शाह ने अपने दौरे के पहले दिन विपक्ष को भी निशाने पर लिया। गृह मंत्री ने यूथ क्लब के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने पंचायत चुनावों में करीब 30 हजार चुने हुए प्रतिनिधि देने का काम किया है जो आज लोगों की सेवा कर रहे हैं।

श्रीनगर-शारजाह अंतरराष्ट्रीय उड़ान की शुरुआत

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक जम्‍मू-कश्मीर के अपने दौरे के पहले दिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को श्रीनगर-शारजाह अंतरराष्ट्रीय उड़ान का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्‍होंने कहा कि हम इसे आज से खोलने की घोषणा करते हैं। इससे पर्यटन को बढ़ावा देने और केंद्र शासित प्रदेश में अधिक निवेश लाने में मदद मिलेगी।

Posted By: Navodit Saktawat