देहरादून। हाईप्रोफाइल संपत्ति विवाद में हर रोज नए मोड़ आ रहे हैं। अब यह तथ्य सामने आया है कि मधुसूदन की मां जरीना सुल्ताना का ही नाम आशा बिम्बेट था। ऐसे में यह बात तो अब लगभग साफ हो चुकी है कि मधुसूदन, ताहिरा और रुखसाना सगे भाई-बहन थे। बालीवुड की मशहूर फिल्म अभिनेत्री अमृता सिंह के मामा मधुसूदन बिम्बेट की संपत्ति से जुड़े लोग और दस्तावेजों से जो कुछ छनकर आ रहा है, उससे संपत्ति पर हिस्सेदारी का मामला काफी पेचीदा हो गया है।

बता दें कि मधूसूदन बिम्बेट के पिता मदनमोहन सिंह एयरफोर्स में विंग कमांडर थे। मधुसूदन की दो बहनें ताहिरा और रुखसाना सुल्ताना भी हैं। प्रख्यात अभिनेत्री अमृता सिंह रुखसाना की बेटी हैं। ताहिरा इस समय गोवा में रहती हैं। जबकि रुखसाना की बेटी अमृता सिंह फिल्मों की जानी-मानी अभिनेत्री रह चुकी हैं।

बीते शनिवार को मधुसूदन बिम्बेट की मृत्यु के बाद उनकी संपत्ति को लेकर दहलीज के भीतर चल रहा विवाद इसलिए सार्वजनिक हो गया कि इसमें एक पक्ष जानी-मानी फिल्म अभिनेत्री अमृता सिंह भी हैं। अमृता सिंह ने अपने मामा मधुसूदन का मृत्यु के ही दिन उनका अंतिम संस्कार भी किया। तब वह संपत्ति को लेकर पहली बार क्लेमेनटाउन थाने गई थीं, जहां उन्होंने आशंका जताई थी कि क्लेमेनटाउन-पोस्टआफिस रोड पर स्थित उनके मामा की संपत्ति पर कुछ लोगों की नजर है, जो उस पर कब्जा कर सकते हैं।

हालांकि इस आशय का प्रार्थना पत्र अमृता सिंह की ओर से 15 जनवरी को भी दिया गया। लेकिन पुलिस ने यह कहते हुए तब कोई कदम उठाने से मना कर दिया था कि संपत्ति को लेकर सिविल कोर्ट में वाद चल रहा है। कोर्ट का फैसले आने से पूर्व पुलिस तभी हस्तक्षेप कर सकती है, जब लॉ एंड आर्डर बिगड़ने की आशंका होती है।

अमृता के लौटने के बाद मधुसूदन के पारिवारिक मित्र आए दिन कुछ न कुछ नए जानकारी सामने लाते रहे। यहां तक कहा गया कि रुखसाना सुल्ताना (अमृता सिंह की मां) की मां जरीना सुल्ताना थीं और ताहिरा बिम्बेट और मधुसूदन बिम्बेट की मां का नाम आशा बिम्बेट था। सवाल यह उठा कि क्या कि वायुसेना में अधिकारी रहे मदनमोहन ने जरीना और आशा नाम की दो महिलाओं से विवाह किया।

अमृता सिंह के वकील मनोज शैली ने बताया कि परिवार को लेकर बाहर के लोगों की ओर से दिए जा रहे तर्क बेबुनियाद हैं। मृता सिंह ने उन्हें बताया है कि जरीना सुल्ताना और आशा बिम्बेट एक ही महिला का नाम था। रुखसाना, ताहिरा और मधुसूदन बिम्बेट सगे-भाई बहन थे।

बेगम पारा थीं जरीना की बहन हिदी फिल्मों के शुरुआती दौर की जानी-मानी अभिनेत्री बेगम पारा जरीना सुल्ताना की सगी बहन थीं। हालांकि आशा बिम्बेट (जरीना सुल्ताना) ने इस बात कभी खुलकर जिक्र नहीं किया। अलबत्ता छठे दशक में दिए गए साक्षात्कार में बेगम पारा ने कहा था उनकी एक बहन जरीना देहरादून में रहती हैं, जो उनसे देहरादून में आकर रहने को कहती रहती हैं।

बेगम पारा ने तब के दौरान प्रसिद्ध फिल्म निर्माता नासिर अहमद से निकाह किया था। अभिनेता अयूब खान बेगम पारा और नासिर के ही बेटे हैं। मधुसूदन का सलीम मुस्तफा भी था नाम नए तथ्यों के सामने आने के बाद इस बात को बल मिलने लगा है कि मधुसूदन बिम्बेट का नाम सलीम मुस्तफा भी था। इस बात का जिक्र उनके कुछ पारिवारिक मित्र पहले भी कर चुके हैं। वह बताते हैं कि आशा बिम्बेट प्यार से कभी-कभी मधुसूदन को सलीम कहकर भी पुकारती थीं।