Andhra Pradesh News: आंध्रप्रदेश के जिले कोनासीमा का नाम बदलकर बीआर आंबेडकर कोनासीमा पर विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया। यहां तक कि धारा 144 लागू कर दी गई। प्रदर्शनकारियों ने मंगलवार को अमलापुरम में कलेक्ट्रेट की घेराबंदी करने का प्रयास किया। जिले का नाम बदले के विरोध में एक रैली निकाली गई। हिंसा में विधायक पोन्नाडा सतीश के घर को आग के हवाले कर दिया गया। हालांकि पुलिस ने मंत्री और उनके परिजनों को सुरक्षित निकाल लिया। गुस्साई भीड़ किए गए पथराव में कम से कम 20 पुलिसकर्मी घायल हो गए। प्रदर्शनकारियों ने जिला एसपी सुब्बा रेड्डी के वाहन पर पथराव किया। दो स्कूल बसों सहित सड़क किनारे कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। हमले में जिला प्रमुख के सिर में चोट आई है।

पुलिस ने कुछ बदमाशों को गिरफ्तार किया है। जिला प्रशासन ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अमलापुरम में अतिरिक्त बल तैनात किया है। गुस्साई भीड़ ने मंत्री पिनिपे विश्वरूप के कार्यालय में भी तोड़फोड़ की। कामनगर क्षेत्र में आग लगा दी। इस बीच गृहमंत्री तनती वनिता ने जिला प्रशासन से बात कर अमलापुरम के हालात का जायजा लिया। उन्होने कहा कि हिंसा के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

वनिता ने कहा, 'कोनासीमा जिले का नाम स्थानीय लोगों की आकांक्षाओं के अनुसार भारतीय संविधान के निर्माता के नाम पर बदला गया है।' बता दें आंध्र प्रदेश सरकार ने इस महीने की शुरुआत में एक अधिसूचना जारी की थी। जिसमें लोगों से इस प्रस्ताव पर आपत्ति या सुझाव मांगा था। कोनासीमा क्षेत्र में दलित समुदाय की बड़ी आबादी है, जो मांग कर रही थी कि प्रदेश के एक जिले का नाम डॉ. बीआर आंबेडकर के नाम पर रखा जाना चाहिए।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close