Anil Chauhan Profile: लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) अनिल चौहान अब देश के नए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) होंगे। कैबिनेट की नियुक्ति मामलों की समिति की मंजूरी के बाद भारत सरकार द्वारा अधिसूचना जारी की गई। चौहान सीडीएस के साथ-साथ रक्षा मंत्रालय में सैन्य मामलों के विभाग के सचिव भी होंगे। पूर्व सीडीएस जनरल बिपिन रावत की हेलीकाप्टर हादसे में मौत के बाद बीते करीब 10 महीने से यह पद खाली था। जनरल रावत के बाद लेफ्टिनेंट जनरल चौहान देश के दूसरे सीडीएस होंगे।

सरकार के अगले आदेश तक कार्यकाल

नए CDS अनिल चौहान का कार्यकाल सरकार के अगले आदेश तक होगा। लेफ्टिनेंट जनरल चौहान अपने करियर में कई कमांड सहित अहम जिम्मेदारियां संभाल चुके हैं। जम्मू-कश्मीर और उत्तर-पूर्व भारत में आतंकवाद विरोधी अभियानों का उन्हें अनुभव है। 18 मई, 1961 को जन्मे लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान को 1981 में भारतीय सेना की 11 गोरखा राइफल्स में कमीशन दिया गया था।

पहली पोस्टिंग 11 गोरखा राइफल्स

वह राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खड़गवासला और भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून के पूर्व छात्र हैं। मेजर जनरल रैंक में उन्होंने उत्तरी कमान में महत्वपूर्ण बारामुला सेक्टर में एक इन्फैंट्री डिवीजन की कमान संभाली थी। बाद में लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में उत्तर-पूर्व में कोर की कमान संभाली।

नियुक्ति और परम विशिष्ट सेवा पदक

इन कमांड नियुक्तियों के अलावा अनिल चौहान ने सैन्य संचालन महानिदेशक के प्रभार सहित महत्वपूर्ण पदों पर काम किया। अंगोला में संयुक्त राष्ट्र मिशन की जिम्मेदारी संभाली। सेवानिवृत्ति के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा और रणनीतिक मामलों में उनका योगदान देना जारी था। सेना में उनकी विशिष्ट और शानदार सेवा के लिए परम विशिष्ट सेवा मेडल, उत्तम युद्ध सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक, सेना मेडल और विशिष्ट सेवा पदक मिला है।

Posted By: Kushagra Valuskar

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close