कोरोना वायरस के मामलों की बढ़ती संख्या के बीच सेना ने अपने कर्मियों के लिए अधिक संगरोध केंद्र स्थापित करने और नागरिकों के लिए अपने चिकित्सा बुनियादी ढांचे का विस्तार करने के लिए युद्धस्तर काम शुरू कर दिया है। इससे पहले लद्दाख के सैनिकों का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वे शपथ लेते दिख रहे हैं कि वे न तो खुद कोरोना वायरस से संक्रमित होंगे और न ही दूसरों को होने देंगे। इस बीच सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवाने शुक्रवार को देश को इस वायरस के खिलाफ सेना की तैयारियों के बारे में बताएंगे।

सेना ने कहा कि कर्मियों के लिए प्रत्येक स्टेशन में अलगाव केंद्र स्थापित करने के लिए अतिरिक्त बुनियादी ढांचे की पहचान करने की कवायद शुरू हो गई है। सेना के एक अधिकारी ने कहा कि भारतीय सेना COVID-19 हॉटस्पॉट में नागरिक प्रशासन की सहायता के लिए अस्पताल और प्रयोगशाला सुविधाओं के अपने नेटवर्क का विस्तार करने के लिए भी तैयार है।

अब तक सेना विदेशों में फंसे भारतीयों के लिए मानेसर, जैसलमेर और जोधपुर में क्वारेंटाइन सेंटर चला रही है। आवश्यकता पड़ने पर गंभीर रूप से प्रभावित क्षेत्रों में सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों को बढ़ाने की योजना है। COVID-19 को बेहतर तरीके से तैयार करने के लिए विभिन्न अस्पतालों में सेना के चिकित्सा कर्मियों का अतिरिक्त प्रशिक्षण भी हो रहा है। बताते चलें कि गुरुवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंत्रालय की कार्य योजना पर चर्चा करने के लिए अपने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket