जम्मू। दक्षिण कश्मीर स्थित पुलवामा जिले के अवंतीपोरा में शुक्रवार को हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के एक स्थानीय आतंकी को मार गिराया। आतंकी को मारे जाने के विरोध में सुरक्षाबलों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए लोगों ने सेना और पुलिस के जवानों पर पथराव भी किया। ऐसे में प्रशासन ने कई जगहों पर प्रशासनिक पाबंदियां लगाने के साथ श्रीनगर-बनिहाल रेल सेवा को एहतियातन बंद कर दिया है।

आतंकियों ने सुबह अवंतीपोरा के रिजीपोरा इलाके में सेना की 55 राष्ट्रीय राइफल्स की पेट्रोलिग पार्टी पर घात लगाकर हमला किया था। सैनिकों ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एक आतंकी को मार गिराया। सूत्रों के अनुसार, यह हमला तीन आतंकियों के एक दल ने किया था, जिनमें से दो आतंकी मौके से भागने में कामयाब हो गए। मुठभेड़ स्थल की तलाशी के दौरान सुरक्षाबलों ने एक आतंकी का शव बरामद किया। मारे गए आतंकी की पहचान पुलवामा के कायल गांव निवासी इशफाक यूसुफ वानी के रूप में हुई है।

इशफाक वानी एमबीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद इस साल जुलाई में आतंकी बनने के लिए हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था। आतंकी बनने के पांच महीनों के अंदर ही उसे मार गिराया गया। उसकी मौत की खबर फैलते ही पुलवामा में लोग सड़कों पर उतर आए और सुरक्षाबलों के खिलाफ पत्थरबाजी शुरू कर दी। इशफाक वानी को दफनाने के लिए ले जाते समय बेकाबू हुई भीड़ में शामिल शरारती तत्वों ने पाकिस्तान के झंडे फहराने के साथ कश्मीर की आजादी के नारे भी बुलंद किए। इसके चलते क्षेत्र में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं।

दूसरी ओर सेना की पेट्रोलिग पार्टी पर हमला करने के बाद भाग निकले दो आतंकियों की धरपकड़ के लिए सुरक्षाबलों का तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। सुरक्षाबलों ने रिजीपोरा के साथ लगते कई गांवों को घेर रखा है। उन्होंने शाम तक अभियान चलाया। इस दौरान कुछ जगहों पर तलाशी भी ली गई।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket