नई दिल्ली। कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच सेना प्रमुख बिपिन रावत ने बड़ा खुलासा किया है। पीटीआई सूत्रों के मुताबिक, सेना प्रमुख रावत ने कहा है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भारतीय सेनाएं पाकिस्तान के साथ युद्ध को लेकर पूरी तरह तैयार थीं। सेना प्रमुख ने यह बात सरकार को भी बता दी थी।

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि सेना प्रमुख के मुताबिक, भारतीय सेना मन बना चुकी थी कि इस बार पाकिस्तान में घुसकर दुश्मन को सबक सिखाया जाए।

पाकिस्तान को सबक सिखाने का यह था प्लान

सेना प्रमुख ने सरकार के सामने यह विकल्प भी रखा था कि पाकिस्तान में घुसकर हवाई हमले किए जाएं और उसे पुलवामा हमले का सबक सिखाया जाए।

एक शीर्ष सूत्र ने बताया कि सितंबर, 2016 में उड़ी हमले के बाद भारतीय सेना ने करीब 11 हजार करोड़ रुपये की हथियार खरीद को मंजूरी दे दी थी और इसका 95 प्रतिशत हिस्सा प्राप्त भी किया जा चुका है। जरूरी हथियारों की खरीद के लिए सात हजार करोड़ की लागत के 33 कॉन्ट्रैक्ट फाइनल हो चुके हैं जबकि करीब नौ हजार करोड़ रुपये की एक अतिरिक्त खरीद अपनी अडवांस्ड स्टेज पर है।

बता दें कि भारतीय वायुसेना ने 14 फरवरी के पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ट्रेनिंग कैंप को तबाह कर दिया था। इसके बाद पाकिस्तान ने जवाबी कार्रवाई के तौर पर भारतीय ठिकानों को निशाने बनाने की कोशिश की थी, लेकिन भारतीय वायुसेना ने पाक की इस हरकत का माकूल जवाब देते हुए पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों को खदेड़ दिया था।