जम्मू-कश्मीर से Article 370 हटाने के केंद्र सरकार के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट सोमवार को सुनवाई कर रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने स्पस्ट कर दिया है कि यह केस बड़ी बेंच नहीं भेजा जाएगा और सुप्रीम कोर्ट की मौजूदा 5 सदस्यीय पीठ ही सुनवाई करेगी। इससे पहले जस्टिस एनवी रामना की अगुआई वाली 5 सदस्यीय पीठ ने 23 जनवरी की सुनवाई में याचिकाओं पर फैसला सुरक्षित कर लिया था। केंद्र ने 5 अगस्त, 2019 को जम्मू-कश्मीर से Article 370 हटाने का फैसला किया था। फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं के जवाब में केंद्र सरकार ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर के हालात में बदलाव के लिए Article 370 हटाना ही एकमात्र विकल्प था।

Article 370 को हटाए जाने के बाद से जम्मू-कश्मीर की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है और भविष्य में भी यह बरकरार रहने की उम्मीद है। गैर सरकारी संगठन पीपुल्स यूनियन ऑफ सिविल लिबर्टीज, जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन और कुछ अन्य याचिकाकर्ताओं ने मामले को वृहत पीठ के समक्ष भेजे जाने का भी अनुरोध किया है।

भाजपा कार्यकर्ता हत्याकांड में सीबीआइ ने पहली बार की गिरफ्तारी

कर्नाटक के धारवाड़ में वर्ष 2016 में भाजपा कार्यकर्ता योगेश गौड़ा की हत्या के मामले में सीबीआइ ने पहली बार कुछ संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। कुछ हिरासत में भी लिए गए हैं। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि उनसे पूछताछ के आधार पर आगे और भी लोग पकड़े जाएंगे। बता दें कि अज्ञात लोगों ने 15 जून 2016 को भाजपा नेता व जिला पंचायत सदस्य योगेश गौड़ा की हत्या कर दी थी। गौड़ा धारवाड़ के सप्तापुरा में जिम चलाते थे। हत्या का मुख्य आरोपित बसवराज शिवप्पा मुत्तगी उनका दोस्त था, जिससे बाद में जमीन सौदे को लेकर उनकी दुश्मनी हो गई थी।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस