Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर की आधारशीला का कार्यक्रम हो रहा है, लेकिन मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को यह रास नहीं आ रहा। मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने एक चिट्ठी लिखकर कहा है कि जिस स्थान पर मंदिर निर्माण हो रहा है, वहां बाबरी मस्जिद थी और रहेगी। इसके साथ ही बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को भी दमनकारी करार दे दिया और कहा कि हमेशा वक्त एक जैसा नहीं होता। वहीं ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सुर में सुर मिलाया है।

असदुद्दीन ओवैसी ने बुधवार सुबह एक ट्वीट किया और लिखा, 'बाबरी मस्जिद थी और रहेगी, इशांअल्लाह। इसके साथ ही उन्होंने बाबरी मस्जिद और बाबरी मस्जिद के विध्वंस की एक-एक तस्वीर भी शेयर की है। वहीं ओवैसी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर भी तंज कसा। प्रियंका ने कल एक ट्वीट में कहा था कि राम सबमें हैं, राम सबके हैं। इस पर ओवैसी ने कहा, खुशी है कि वो अब नाटक नहीं कर रहे हैं। कट्टर हिंदुत्व की विचारधारा को गले लगाना चाहते हैं तो ठीक है, लेकिन भाईचारे के मुद्दे पर पर वो खोखली बातें क्यों करती हैं।

बता दें, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ही राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद सुप्रीम कोर्ट ने अहम मुकदमों में एक माना था और इसीलिए इस मुकदमे की लगातार 40 दिन तक सुनवाई की गई। यहां तक कि सोमवार और शुक्रवार के मिसलेनियस यानी नये मुकदमों को सुनने के लिए तय दिनों में भी इसकी सुनवाई चली। इस ऐतिहासिक मुकदमे पर सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर 2019 को फैसला सुनाया था। 9 अगस्त को फैसला आए हुए 9 महीने पूरे हो जाएंगे।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020