नई दिल्ली। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला दे दिया है। इसमें विवादित स्थल पर मालिकाना हक राम लला को दे दिया गया है। इसके साथ ही मुस्लिम पक्ष को पांच एकड़ की वैकल्पिक जमीन अयोध्या में देने की बात कही गई है। जानिए इस पूरे मामले में किन सवालों के जवाब मिले हैं और किसने क्या मांगा था और किसे क्या मिला।

सवाल- राम लला ने जमीन पर पूरा हक मांगा था, क्या मिला?

जवाब- पूरा हक मिला, निर्मोही अखाड़े का दावा भी सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया।

सवाल- निर्मोही अखाड़े ने पूजा का अधिकार मांगा था, उसे क्या मिला।

जवाब- छह साल की समय सीमा के खत्म होने के बाद वाद दायर करने की वजह से उसका दावा खारिज कर दिया गया।

सवाल- विदेशी यात्रियों के यात्रावृतांत कितने फायदेमंद रहे?

जवाब- सुप्रीम कोर्ट ने 15वीं शताब्दी के पहले और बाद में भारत आए विदेशी यात्रियों के वृतांत के आधार पर माना कि वहां पहले से पूजा होती रही थी। एतिहासिक साक्ष्य को भी माना कि 1857-58 के पहले वहां नमाज पढ़े जाने के सबूत नहीं हैं।

सवाल- खुदाई में जो अवशेष मिले वह कितने सही हैं?

जवाब- सुप्रीम कोर्ट ने एएसआई की रिपोर्ट के आधार पर माना कि विवादित जगह पर अवशेषों के ऊपर मस्जिद का निर्माण किया गया था। नीचे जो रचना थी वह इस्लामिक नहीं थी। चबूतरे, सीता रसोई और भंडार से भी मंदिर की पुष्टि हुई। किसी ने भी इस बात का विरोध नहीं किया कि राम के जन्म पर विवाद है।

सवाल- सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कहा था जमीन से बाहर नहीं किया जाए।

जवाब - सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से कहा है कि पांच एकड़ की वैकल्पिक जमीन मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में दी जाएगी।

सवाल- मंदिर का निर्माण कब तक होगा?

जवाब- तीन महीने में सुप्रीम कोर्ट को एक ट्रस्ट बनाकर मंदिर के निर्माण का काम करना होगा।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai