Ayushman Bharat Yojana: देश की सबसे बड़ी स्‍वास्‍थ्‍य योजना आयुष्‍मान भारत का बीते एक सप्‍ताह में बड़ी संख्‍या में लोगों ने लाभ लिया है। केंद्र सरकार ने बकायदा सेंटर खोलकर योजना के सत्र आयोजित किए, जिसे लोगों ने बखूबी समझा। लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाओं की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए देश के विभिन्न भागों में कुल 43,022 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर संचालन में आ गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी की अवधि (जनवरी से जुलाई के बीच) में करीब 13,657 केंद्र संचालन में आए हैं। ये केंद्र समुदाय को समग्र एवं गुणवत्तापूर्ण प्राथमिक चिकित्सा मुहैया करा रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि देश भर में 32,000 योग सत्र का आयोजन किया गया। इन केंद्रों के स्थापित होने के बाद से कुल 14.24 लाख योग सत्र आयोजित किए गए। इसके अलावा ये केंद्र गैर संचारी रोगों की व्यापक जांच में भी अहम भूमिका निभा रहे हैं। मंत्रालय के बयान में कहा गया है, "24 जुलाई तक कुल 43,022 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर देश के विभिन्न भागों में संचालन में आ चुके हैं।

मंत्रालय के मुताबिक, 18 जुलाई से 24 जुलाई तक 44.26 लाख लोगों ने आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का लाभ लिया। 14 अप्रैल से हेल्थ एंड वेलनेस केंद्रों में पहुंचने वाले लोगों की संख्या में क्रमशः वृद्धि दर्ज की गई। इन केंद्रों ने गैर-कोविड आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभावित नहीं होने देना सुनिश्चित किया है।

क्‍या है आयुष्‍मान भारत योजना

आयुष्मान भारत (पीएम-जय) या प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना PMJAY दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है। इसका मकसद उद्देश्य प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का मुफ़्त इलाज करना है। माध्यमिक और स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 10.74 करोड़ से भी अधिक गरीब और वंचित परिवारों (या लगभग 50 करोड़ लाभार्थियों को) मुहैया कराना भी इसमें शामिल है जो भारतीय आबादी का 40% हिस्सा हैं।

Posted By: Navodit Saktawat