बद्दी। हिमाचल प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी में डायरिया फैलने से दो बच्चियों की मौत हो गई। वहीं इसकी चपेट में आए करीब 40 लोग विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। दूषित पानी पीने से फैली बीमारी के शिकार अधिकतर लोग उत्तर प्रदेश के बदायूं और बरेली जिले के रहने वाले हैं। सभी पीड़ित हिमाचल व हरियाणा राज्य की सीमा से सटे क्षेत्र शाहपुर गांव में बनी झुग्गियों में रहते हैं। हिमाचल व हरियाणा दोनों राज्यों के स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर इलाके के जलस्रोतों की जांच शुरू कर दी है।

मरीजों को उपचार के लिए बद्दी, नालागढ़, कालका व चंडीगढ़ ले जाया गया है। इस गांव में करीब 200 झोपड़ियों में बरेली व बदायूं जिले के लोग कई वर्षों से रह रहे हैं। बीमार होने वाले सभी लोग हिमाचल के जिला सोलन स्थित बद्दी औद्योगिक क्षेत्र में काम करते हैं। डॉक्टरों ने बताया कि शाहपुर में एक साथ कई लोग उल्टी व दस्त की चपेट में आ गए हैं। यह दूषित पानी पीने से हुआ है। लोग जमीन से निकल रहे जल स्रोत से पानी पी रहे थे। मरने वालों में नौ साल की भावना पुत्री खिदयाल और ढाई साल की ललिता पुत्री तिलक शामिल हैं। दोनों गांव बारी खेड़ा, आंवला, जिला बरेली, उत्तर प्रदेश की रहने वाली थीं।

रोग दूषित पानी से फैला है। यह क्षेत्र हरियाणा में आता है, इसलिए बद्दी व नालागढ़ से भी चिकित्सकों की टीमें मौके पर भेजी हैं। कार्यक्रम अधिकारी डॉ. गगन को मौके पर तैनात कर दिया गया है। जो भी वहां पर दवाई व सहायता की जरूरत पड़ती है, वह हरियाणा के स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध करवाया जा रहा है। हरियाणा के खंड चिकित्सा अधिकारी भी टीम के साथ मौके पर हैं। क्षेत्र में क्लोरीन की गोलियां बांट दी गई हैं। जो लोग इसकी चपेट में हैं, उन्हें चिकित्सालयों में भिजवा दिया गया है। -एनके गुप्ता, सीएमओ, सोलन।

Posted By: Yogendra Sharma